मुरैना में तीन दिवसीय कृषि मेला और प्रदर्शनी

Share

11 नवम्बर 2022, मुरैना: मुरैना में तीन दिवसीय कृषि मेला और प्रदर्शनी – मुरैना के डॉ अम्बेडकर स्टेडियम में  11 से 13 नवंबर तक कृषि मेला और प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। इस आयोजन में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान,गुजरात के राज्यपाल श्री आचार्य देवव्रत ,केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ,केंद्रीय नागर विमानन  श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया,श्री कैलाश चौधरी ,केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री,श्री विष्णुदत्त शर्मा ,सांसद खजुराहो, श्री कमल पटेल कृषि मंत्री ,मध्यप्रदेश और श्री भारत सिंह कुशवाह राज्य मंत्री नर्मदा घाटी ,उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण ,मध्यप्रदेश शासन की गरिमामयी  उपस्थिति में प्रातः 11 बजे शुभारम्भ होगा।

इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में पहले दिन आज 11  नवंबर को दोपहर 1 बजे प्राकृतिक खेती एवं प्रयुक्त होने वाले विभिन्न आदान बनाने की विधियां एवं प्रयोग विषय पर डॉ एबी सिंह ,निदेशक भारतीय मृदा अनुसन्धान संस्थान, भोपाल अपने विचार प्रकट करेंगे। 2 बजे चंबल क्षेत्र में उद्यानिकी फल उत्पादन की संभावनाएं विषय पर, निदेशक, केंद्रीय उद्यानिकी सब ट्रॉपिकल संस्थान, लखनऊ जानकारी देंगे। इसके अलावा पशु पालन,मत्स्य विभाग ,कृषि विभाग और उद्यानिकी विभाग द्वारा विभिन्न विषयों पर व्याख्यान होंगे।

12  नवंबर को प्रातः 11 बजे से 1: 30 बजे तक संरक्षित तकनीक आधारित प्राकृतिक खेती विषय पर डॉ वायपी सिंह ,निदेशक विस्तार सेवाएं रा वि सि कृ वि वि ग्वालियर, फसल बीमा पर श्री शुभम जौहरी , असिस्टेंट मैनेजर ,एआईसी, भोपाल और प्राकृतिक खेती -भविष्य की आवश्यकता विषय पर श्री आचार्य देवव्रत , राज्यपाल गुजरात व्याख्यान देंगे। इसके अलावा चंबल क्षेत्र वर्ष भर सब्जी उत्पादन से लाभ एवं रोज़गार विषय पर निदेशक, भारतीय सब्जी अनुसन्धान संस्थान , बनारस  अपने विचार प्रकट करेंगे।  दूसरे दिन भी  पशु पालन, मत्स्य विभाग, कृषि विभाग और उद्यानिकी विभाग द्वारा विभिन्न विषयों पर व्याख्यान होंगे।

कृषि मेले के अंतिम दिन 13 नवंबर को प्रातः 11 से 1 : 30  बजे तक प्राकृतिक खेती पर डॉ संजय शर्मा,निदेशक, अनुसन्धान सेवाएं रा वि सि कृ वि वि ग्वालियर, फसल विविधीकरण एवं मृदा परीक्षण का कृषि में महत्व विषय पर डॉ एसके त्रिपाठी ,प्रधान वैज्ञानिक ,भारतीय मृदा अनुसन्धान संस्थान , भोपाल ,चम्बल क्षेत्र में डेयरी उद्यमिता के लाभ ,विषय पर डॉ एसके सिंह ,एनडीआरआई , करनाल, जैव उर्वरकों का कृषि में महत्व विषय पर डॉ ए एस  राजपूत ,क्षेत्रीय निदेशक ,क्षेत्रीय जैविक एवं प्राकृतिक खेती केंद्र , नागपुर और मशरूम उत्पादन एवं उसका मूल्य संवर्धन एवं संभावनाएं विषय पर डॉ हरविंदर सिंह , अध्यक्ष आईजी के वि वि , रायपुर अपना उद्बोधन देंगे। तीसरे दिन भी पशु पालन,मत्स्य विभाग ,कृषि विभाग और उद्यानिकी विभाग द्वारा विभिन्न विषयों पर व्याख्यान होंगे एवं अंत में प्रश्नोत्तरी में समस्या और समाधान के साथ कृषि मेले का समापन होगा।

महत्वपूर्ण खबर: कपास मंडी रेट (09 नवम्बर 2022 के अनुसार)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *