छत्तीसगढ़ में छात्रों ने जानी कृषि में रिमोंट सेंसिग की उपयोगिता

Share

17 दिसम्बर 2022, रायपुर । छत्तीसगढ़ में  छात्रों ने जानी कृषि में रिमोंट सेंसिग की उपयोगिता– कृषि के क्षेत्र में रिमोंट सेंसिग तकनीक बेहद प्रभावी और उपयोगी होती जा रही है। इस तकनीक के जरिए फसल का क्षेत्रफल, जमीन का प्रकार, फसल का उत्पादन, मिट्टी की स्थिति, इसकी जल धारण क्षमता संबधी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। रिमोट सेसिंग के माध्यम से अतिवृष्टि, अनावृष्टि, बाढ़, सूखा, बेमौसम बारिश आदि की सूचनाएं भी मिलती हैं। खेत मे बोयी फसल की बढ़वार, उसके स्वास्थ्य यहां तक की फसल में कीट अथवा रोगों के प्रकोप आदि का भी पता लगाया जा सकता है। यह बातें छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के वैज्ञानिक श्री अखिलेश त्रिपाठी ने कही।

वैज्ञानिक श्री त्रिपाठी रायपुर के बीरगांव स्थित अडवानी आर्लिकॉन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कृषि संकाय के छात्र-छात्राओं को रिमोट सेंसिग ऐप्लीकेशन इन एग्रीकल्चर विषय पर व्याख्यान दे रहे थे। श्री त्रिपाठी ने इस दौरान छात्र-छात्राओं की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया। कृषि छात्रों को उपग्रह चित्र दिखाकर फसलों की स्थिति के बारे में भी बताया। स्कूल के प्राचार्य श्री मुकेश कुमार सिरमौर में मार्ग दर्शन में आयोजित इस कार्यक्रम में व्यवसायिक प्रशिक्षक आकाश चन्द्राकर एवं विद्यालय के शिक्षकगण सम्मलित हुए।

महत्वपूर्ण खबर: स्वाईल हेल्थ कार्ड के आधार पर ही फर्टिलाइजर डालें

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *