समस्या – समाधान (Farming Solution)

मैं औषधि फसल गिलोय लगाना चाहता हूं, लगाने का समय तथा तकनीकी बतायें।

Share

सुखदेव प्रसाद

20 अप्रैल 2024, भोपाल: मैं औषधि फसल गिलोय लगाना चाहता हूं, लगाने का समय तथा तकनीकी बतायें – औषधि फसल गिलोय बहुत से रोगों में सफलता से उपयोगी पाई गई है। कुछ हिस्से में आप इसे लगायें तथा निम्न तकनीकी अपनायें।

जातियों में आई.सी.281959, आई.सी.291970 तथा आई.सी. 281972 इत्यादि है।

गिलोय को कटिंग के द्वारा लगाया जाता है तथा मई माह इसके लिए उपयुक्त समय है।

8 से 10 इंच लंबी कलम काटी जाती है। तथा नमी युक्त भूमि में लगाई जाती है।
द्यकटिंग लगाने के तुरंत बाद हल्की सिंचाई की जाती है।

नर्सरी से डेढ़ से 2 माह की रोप को मुख्य खेत में लगाया जाता है। कतार से कतार की दूरी 60 से.मी. होती है।

बेल को चढ़ाने के लिये बांस की डंडियों का सहारा दिया जाता है।

गोबर खाद 10 टन/हे. के साथ, यूरिया 40 किलो, 160 किलो सिंगल सुपर फास्फेट तथा 40 किलो म्यूरेट ऑफ पोटाश/हे. की दर से दिया जाये।

समय से निंदाई/गुड़ाई की जाये ताकि फसल अच्छी तरह से पले-पुसे।

फसल रोपाई के एक वर्ष बाद कटाई करें बेल को जमीन से 1 फीट ऊपर से की जाये ताकि बचे भाग से पुन: अंकुरण हो सके।

4-5 वर्ष बाद नई फसल लगाई जाती है।

तनों को 1 से 2 से.मी. लंबाई से  काटकर अच्छी तरह से सुखायें और बोरों में भंडारित करें।

बेलों को सहारा देने के उद्देश्य से टेन्चा लगाया जा सकता है जो 10 -12 फीट ऊंचाई तक जाता है सूखने के बाद भी दो वर्ष खेत में खड़ा रह सकता है।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements