फसल की खेती (Crop Cultivation)

छत्तीसगढ़ का जांजगीर-चांपा जिला गोमूत्र खरीदी में पूरे प्रदेश में अव्वल

Share

गोमूत्र से बना ब्रम्हास्त्र और जीवामृत पेस्टीसाईड का बेहतर विकल्प

7 अक्टूबर 2022, रायपुर छत्तीसगढ़ का जांजगीर-चांपा जिला गोमूत्र खरीदी में पूरे प्रदेश में अव्वल – राज्य में गोमूत्र की खरीदी में जांजगीर-चांपा जिला प्रथम स्थान पर है। जांजगीर-चांपा जिले में  अब तक 5093 लीटर गोमूत्र की खरीदी हो चुकी है, जबकि 2926 लीटर की गोमूत्र खरीदी के साथ कबीरधाम जिला दूसरे स्थान पर है। कोरिया जिला गौमूत्र खरीदी में तीसरे स्थान पर है, यहां 2993 लीटर गोमूत्र खरीदी हुई है। 

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देने, कृषि की लागत को कम करने और रासायनिक कीटनाशकों का खेती किसानी में कम से कम उपयोग करने के लिए लगातार सार्थक पहल की जा  रही है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर 28 जुलाई, हरेली पर्व से पूरे प्रदेश में गोमूत्र की खरीदी 4 रुपए प्रति लीटर की दर से की जा रही है। हरेली पर्व से शुरू हुए गोमूत्र खरीदी कार्य में जांजगीर-चांपा जिला अब तक 5093 लीटर की खरीदी के साथ पूरे प्रदेश में प्रथम स्थान पर है। 

कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा के मार्गदर्शन में जांजगीर-चांपा जिले में स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गोमूत्र से जीवामृत और ब्रम्हास्त्र कीटनाशक तैयार एवं विक्रय अतिरिक्त आय अर्जित की जा रही हैं, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति और बेहतर हो रही है। स्व-सहायता समूहों ने गोमूत्र से बने जीवामृत और ब्रम्हास्त्र  बेचकर लगभग 82 हजार 500 रुपए का लाभ अर्जित किया है। रासायनिक कीटनाशक के जगह गोमूत्र से बनने वाले उत्पाद जीवामृत और ब्रम्हास्त्र खेती-किसानी के लिए ज्यादा फायदेमंद है। इसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता रासायनिक कीटनाशक से कई गुना अधिक है। 

जांजगीर-चाम्पा जिले के दो गोठान विकासखंड अकलतरा के तिलाई एवं विकासखंड नवागढ़ के खोखरा गोठान में गोमूत्र खरीदी की जा रही है। तिलई गोठान में स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गोमूत्र से 200 लीटर जीवामृत और 721 लीटर ब्रह्मास्त्र बनाकर 646 लीटर उत्पाद बेचकर कुल 30 हजार 300 रुपए का लाभ प्राप्त कर चुकी है। वर्तमान में जीवामृत 40 रुपए प्रति लीटर की दर से और ब्रम्हास्त्र 50 रुपए प्रति लीटर की दर से विक्रय किया जा रहा है।

महत्वपूर्ण खबर: भारत दुनिया का सबसे बड़े शक्कर उत्पादक और दूसरा सबसे बड़े चीनी निर्यातक के रूप में

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *