कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

Share On :

farmer-training-program-organized

रीवा। कृषि विज्ञान केन्द्र, रीवा के वैज्ञानिकों द्वारा गतदिनों हनुमना ब्लाक के ग्राम महौता, गाड़ा, गनिगवों, मरियादपुर, कठार, मधाई (अतरैला) में कृषकों के खेत में लगे धान, मूँग, उर्द, अरहर एवं मक्का की फसल का निरीक्षण किया गया जिसमे कृषकों को प्रमुख रूप से केन्द्र के प्रमुख डॉ. ए. के. पाण्डेय ने  फसल प्रबंधन, खाद प्रबंधन, सिंचाई प्रबंधन के विषय में बताया। फसलों में कीट एवं रोग प्रबंधन के साथ-साथ डॉ. अखिलेश कुमार पौध संरक्षण वैज्ञानिक ने मक्के में लगने वाले फॉल आर्मी वर्म की पहचान एवं प्रबंधन के विषय पर ग्राम मधाई (अतरैला), हनुमना में कृषकों को प्रशिक्षण दिया जिसमें कीट का किस प्रकार पहचान एवं उसका प्रबंधन कैसे किया जाय पर चर्चा की जिसमे कीट का प्रकोप होने पर स्पानेटोराम 11.7 प्रतिशत एससी की 420 - 470 मिली प्रति हेक्टेयर या थायोमेथोक्जाम 12.6 प्रतिशत एवं लेम्बडासायहेलोथ्रिन 9.5 प्रतिशत  की मिश्रित दवा की 0.5 मिली/ लीटर या क्लोरेन्ट्रनीलीप्रोल 18.5 प्रतिशत एससी की 0.4 मिली/ लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें। प्रशिक्षण कार्यक्रम में संस्था स्तुति डेवलपमेन्ट फांउडेशन, रीवा के श्री सुदीप सोतवंशी, पूजा शुक्ला, कामना मालवीय, के साथ -साथ क्षेत्र के कृषक श्री अयोध्या प्रसाद साकेत, रामबली साकेत, रामभुवन साकेत एवं मुन्नालाल साकेत और अन्य प्रगतिशील कृषक उपस्थित थे।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles