जानिए पान के पत्तों की प्रमुख किस्में एंव उगाने वाले प्रमुख राज्य

Share

13 मार्च 2023, नई दिल्ली: जानिए पान के पत्तों की प्रमुख किस्में एंव उगाने वाले प्रमुख राज्य पान बेल का पत्ता होता है। भारत में, इसे “पान” के नाम से जाना जाता है। पान की बेल एक बारहमासी, सदाबहार फ़सल है जिसे उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय जलवायु में उगाया जाता है। एशिया तथा विश्व के अन्य भागों में कुछ एशियाई आप्रवासियों द्वारा पान के पत्तों का उपभोग किया जाता है। वर्तमान में, स्थानीय उपभोग एवं निर्यात के लिए पान की खेती की जाती है। श्री लंका, भारत, थाईलैंड और बांग्लादेश पान के पत्तों की खेती करने वाले प्रमुख देश हैं।

सुपारी, सुपारी-ताड़ (अरेका कत्था) का फल है जो जिसे मुख्य रूप से उष्णकटिबंधीय प्रशांत, दक्षिणपूर्व और दक्षिण एशिया, और पूर्वी अफ्रीका के कुछ हिस्सों में उगाया जाता है। इसे आमतौर पर पान सुपारी के नाम से जाना जाता है इसीलिए अक्सर पान सुपारी और पान के पत्तों (पाइपर बिटल) के बीच में असम्मति हो जाती है जिसे अक्सर (पान) लपेटने के लिए उपयोग किया जाता है।

पान सुपारी और पान के पत्तों के मिश्रण को चबाना एक परंपरा, रीति और पद्धति रही है जो दक्षिण एशिया से पूर्व में प्रशांत क्षेत्र के भौगोलिक क्षेत्रों में हजारों वर्ष पहले से चली आ रही है।

पान के पत्तों की किस्मेंः :

पत्ती के पत्ते की आकृति, आकार, भुरभुरेपन और स्वाद के आधार पर पान की बेल को कसेली और गैर-तीखे में वर्गीकृत किया जाता हैः

पान की खेती करने वाले प्रमुख राज्य व उनकी प्रचलित किस्में  
राज्यप्रचलित किस्में
आंध्र प्रदेशकारापकु, चेन्नोर, तेल्लुका, बांग्ला और कल्ली पट्टी
असमअसम पट्टी, अवानी पान, बांग्ला और खासी पान
बिहारदेसी पान, कलकत्ता, पातों, मघई और बांग्ला
कर्नाटककरियाले, मैसुराइले और अंबादैले
उड़ीसागोडी बांग्ला, नोवा चत्तक, सांची और बिरकोली
मध्य प्रदेशदेसी बांग्ल, कलकत्ता और देसवारी
महाराष्ट्रकल्ली पट्टी, कपूरी और बांग्ला (रामतेक)
पश्चिमी बंगालबांग्ला, सांची, मीठा, काली बांग्ला और सिमुराली बांग्ला
पान बेल का पत्ता होता है। भारत में, इसे “पान” के नाम से जाना जाता है।
पान सुपारी की किस्मेंः :

भारत में छाली की दो किस्में मिलती हैं जिन्हें हिंदी भाषा में सुपारी कहा जाता है। इसमें से सुपारी की एक किस्म सफेद और अन्य किस्म लाल होती है। सफेद सुपारी को पूर्ण परिपक्व गिरी की कटाई करके उत्पादित किया जाता है और फिर उसे दो महीनों तक धूप में सुखाया जाता है। सुपारी की लाल किस्म में हरी सुपारी की कटाई कर उसे उबाल कर उसके छिलके को हटाया जाता है।

खेती के क्षेत्र :

पान के पत्तों की खेती असम, आंध्र प्रदेश, बिहार, गुजरात, उड़ीसा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पश्चिमी बंगाल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में की जाती है।

पान सुपारी की खेती कर्नाटक, केरल और असम राज्यों में की जाती है; यह तीन राज्य पान सुपारी के कुल उत्पादन में 85 प्रतिशत से आधिक का योगदान देते हैं।

मेघालय, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल जैसे अन्य राज्यों में, यह फसल बहुत छोटे क्षेत्र में उगाई जाती है।

भारत द्वारा निर्यातः वर्ष 2021-22 में देश से विश्व भर में 6517.26 मीट्रिक टन पान के पत्तों का निर्यात किया गया जिसकी कीमत 45.97 करोड़ रुपए/ 6.17 अमरीकी मिलयन डॉलर थी।

वर्ष 2021-22 में देश से विश्व भर में 7539.31 मीट्रिक टन पान सुपारी का निर्यात किया गया जिसकी कीमत 169.25 करोड़ रुपए/ 22.68 अमरीकी मिलयन डॉलर थी।

महत्वपूर्ण खबर: गेहूँ मंडी रेट (11 मार्च 2023 के अनुसार)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *