उपज में आदान का महत्व

23 अगस्त 2022, भोपाल । उपज में आदान का महत्व – फसल उत्पादन में आदानों की भूमिका का महत्व तो सभी जानते हंै क्योंकि बुआई उपरांत पौधों का पोषण प्रबंध, जल प्रबंध भूमि ही करती है। यदि भूमि की उपजाऊ शक्ति

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

अब किस दुनिया में जिएं प्रेमचंद के झूरी काछी और हीरा-मोती

जयराम शुक्ल, मो. : 8225812813   18 अगस्त 2022, भोपाल । अब किस दुनिया में जिएं प्रेमचंद के झूरी काछी और हीरा-मोती – प्रेमचंद की जयंती बीते दिनों साहित्य जगत में परंपरागत रूप से मनाई गई। जयंती के दिन प्रेमचंद बड़ी

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

कीटनाशकों का असंतुलित प्रयोग रोकें

16 अगस्त 2022, भोपाल । कीटनाशकों का असंतुलित प्रयोग रोकें – एक अध्ययन के मुताबिक कीट-रोगों के फसलों पर प्रकोप से भारत में प्रतिवर्ष 36 अरब डॉलर से अधिक का नुकसान होता है। हालांकि कीट-रोग के कारण फसल की उत्पादकता में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

प्राकृतिक कृषि और ड्रोन के मध्य किसान

सुनील गंगराड़े 9 अगस्त 2022, भोपाल ।  प्राकृतिक कृषि और ड्रोन के मध्य किसान – प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देने, फर्टिलाइजर उपयोग को कम करने, कीटनाशकों का ड्रोन से छिडक़ाव, भारतीय कृषि संस्कृति के ऐसे अनेक विपरीत ध्रुवों को जोडऩे

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

समुचित उत्पादन के लिए सिंचाई प्रबंधन जरूरी

3 अगस्त 2022, भोपाल । समुचित उत्पादन के लिए सिंचाई प्रबंधन जरूरी – सफल खेती के लिये खेत की तैयारी से लेकर कटाई एवं भंडारण तक यदि देखा जाये तो समुचित उत्पादन के पीछे प्रबंधन का ही हाथ होता है।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

गेमचेंजर हो सकता है नैनो यूरिया

सुनील गंगराड़े 26 जुलाई 2022, भोपाल । गेमचेंजर हो सकता है नैनो यूरिया – बीते दशक में कृषि क्षेत्र में तकनीक के माध्यम से परिवर्तन की बयार चल पड़ी है, नवाचार हो रहे हैं। किसान बंधुओं की मेहनत, कृषि वैज्ञानिकों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

फिर आया मौसम हरे छाते रोपने का

डॉ. किशोर पंवार 25 जुलाई 2022, भोपाल । फिर आया मौसम हरे छाते रोपने का – गर्मी की तीखी धूप और मूसलाधर बरसात से बचने के लिए प्रकृति ने हमें पेड़ों के रूप में सामूहिक छाते उपलब्ध करवाए हैं। मानसून

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

पेसा : लोकतंत्र और शासन को फिर से परिभाषित किया गया

पंचायती राज 30 साल में कितना मजबूत हुआ लोकतंत्र ? – 3 सी.आर. बिजॉय(अनुवाद: विशाल कुमार जैन ) 23 जुलाई 2022, भोपाल । पेसा : लोकतंत्र और शासन को फिर से परिभाषित किया गया – भारत में लोकतंत्र की जड़ों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मानसून खरीफ ही नहीं, वर्षभर के लिये

20 जुलाई 2022, भोपाल ।  मानसून खरीफ ही नहीं, वर्षभर के लिये – कुछ दशक पहले मानसून 15 जून तक दरवाजा खटखटा देता था। कृषकों के खेत तैयार रहते थे बतर आते ही जून अंत तक खरीफ फसलों की बुआई

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना बंद नहीं हो

डॉ. चन्दर सोनाने 20 जुलाई 2022,  प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना बंद नहीं हो – यूएन की दि स्टेट ऑफ फूड सिक्योरिटी एंड न्यूट्रीशन इन दि वल्र्ड 2022 की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2019 में दुनिया में 61.8 करोड़ लोगों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें