संपादकीय (Editorial)

संपादकीय (Editorial) में भारत में कृषि, कृषि नीतियों, किसानों की प्रतिक्रिया और भारतीय परिदृश्य में इसकी प्रासंगिकता से संबंधित नवीनतम समाचार और लेख शामिल हैं। संपादकीय (Editorial) में अतिथि पोस्ट और आजीविका या ग्रामीण जीवन से संबंधित लेख भी शामिल हैं।

संपादकीय (Editorial)

खेत – खलिहान से भण्डारण तक

11 अप्रैल 2023, भोपाल ।  खेत – खलिहान से भण्डारण तक – प्रकृति के उलटफेर अतिरेक के बावजूद रबी फसलों के उत्पादन पर कोई विशेष असर नहीं होगा। अतिरेक की सीमा सीमित है और लहलहाती फसलों का क्षेत्र अपार आंकड़े,

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

नादानी और बेईमानी से खत्म हो रहा पानी

पवन नागर 2 अप्रैल 2023, भोपाल ।  नादानी और बेईमानी से खत्म हो रहा पानी – पानी के लिए मचते हाहाकार में हम धूर्ततावश अक्सर यह भूल ही जाते हैं कि इस त्रासदी की असली वजह तो हम, इंसान ही

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

मिश्रित खेती से मुनाफा कमाएं

2 अप्रैल 2023, भोपाल ।  मिश्रित खेती से मुनाफा कमाएं –  मिश्रित खेती का इतिहास हमारी संस्कृति से जुड़ा हुआ है। सदियों से कृषि और पशुपालन की प्रथा चली आ रही है और उसके महत्व से भी सभी परिचित हंै।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
संपादकीय (Editorial)

खेतों की तैयारी भी जरूरी

28 मार्च 2023, भोपाल ।  खेतों की तैयारी भी जरूरी – खेती एक सतत क्रिया है। कहावत है ‘खेती आप सेती’ मतलब खेती किसी संदेश या खबर पर नहीं की जा सकती है, खेती स्वयं को करना पड़ता है। खेती

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

अब समय कटाई – गहाई, भंडारण का

23 मार्च 2023, भोपाल । अब समय कटाई – गहाई, भंडारण का – बीते दिनों मौसम कशमकश के कारण बीते आज खेतों में हंसिया लगने का समय सामने है। कटाई, गहाई, भंडारण को किसी उपन्यास का सुखद या दुखद अंत माना

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

किसानों की तकदीर बदल सकती है औषधीय खेती

लेखक: अमित बैजनाथ गर्ग, वरिष्ठ पत्रकार 17 मार्च 2023, नई दिल्ली: किसानों की तकदीर बदल सकती है औषधीय खेती – विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि विकासशील देशों में करीब 80 फीसदी लोग अपनी स्वास्थ्य जरूरतों को पूरा

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
संपादकीय (Editorial)

मोटे अनाजों का सेवन सही तरीके से करना जरूरी

लेखक: अमित बैजनाथ गर्ग, वरिष्ठ पत्रकार 17 मार्च 2023, नई दिल्ली: मोटे अनाजों का सेवन सही तरीके से करना जरूरी – भारत की पहल पर संयुक्त राष्ट्र ने साल 2023 को अंतरराष्ट्रीय मिलेट्स ईयर घोषित किया है। इसके बाद देश-दुनिया

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

प्रकृति के प्रकोप का सामना कैसे करें

15 मार्च 2023, भोपाल ।  प्रकृति के प्रकोप का सामना कैसे करें – कृषि को प्रकृति द्वारा समय-समय पर अतिरेक का सामना करना पड़ता है और सच मानो तो ये ओला, ये पाला  और मावठा प्रत्येक वर्ष माघ माह में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

जलवायु परिवर्तन  सिर्फ सोचना नहीं, कृषि को बचाना भी है

विनोद के. शाहमो. 9425640778 7 मार्च 2023, भोपाल ।  जलवायु परिवर्तन  सिर्फ सोचना नहीं, कृषि को बचाना भी है – सम्पूर्ण विश्व सहित भारत के लिये इस समय सवसे बड़ी चुनौती जलवायु परिवर्तन की है। सरकार कृषि उत्पादन एवं निर्यात

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
संपादकीय (Editorial)

रबी का समापन सुखद हो

7 मार्च 2023, भोपाल ।  रबी का समापन सुखद हो – मौसम के अतिरेक से गुजरती रबी की गाड़ी अपने गन्तव्य पर पहुंचने को है। मीलों लम्बे-चौड़े लहलहाते गेहूं के खेतों को देखो तो मन प्रसन्नता से भर जाता है।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें