फसल की खेती (Crop Cultivation)

नवीनतम फसल की खेती (Crop Cultivation) की जानकारी और कृषि पद्धतियों में नवाचार, बुआई का समय, बीज उपचार, खरपतवार नियन्तारन, रोग नियन्तारन, कीटो और संक्रमण से सुरक्षा, बीमरियो का नियन्तारन। गेहू, चना, मूंग, सोयाबीन, धान, मक्का, आलू, कपास, जीरा, अनार, केला, प्याज़, टमाटर की फसल की खेती (Crop Cultivation) की जानकारी और नई किस्मे। गेहू, चना, मूंग, सोयाबीन, धान, मक्का, आलू, कपास, जीरा, अनार, केला, प्याज़, टमाटर की फसल में कीट नियंतरण एवं रोग नियंतरण। सोयाबीन में बीज उपचार कैसे करे, गेहूँ मैं बीज उपचार कैसे करे, धान मैं बीज उपचार कैसे करे, प्याज मैं बीज उपचार कैसे करे, बीज उपचार का सही तरीका। मशरुम की खेती, जिमीकंद की खेती, प्याज़ की उपज कैसे बढ़ाए, औषदि फसलों की खेती, जुकिनी की खेती, ड्रैगन फ्रूट की खेती, बैंगन की खेती, भिंडी की खेती, टमाटर की खेती, गर्मी में मूंग की खेती, आम की खेती, नीबू की खेती, अमरुद की खेती, पूसा अरहर 16 अरहर क़िस्म, स्ट्रॉबेरी की खेती, पपीते की खेती, मटर की खेती, शक्ति वर्धक हाइब्रिड सीड्स, लहसुन की खेती। मूंग के प्रमुख कीट एवं रोकथाम, सरसों की स्टार 10-15 किस्म स्टार एग्रीसीड्स, अफीम की खेती, अफीम का पत्ता कैसे मिलता है?

फसल की खेती (Crop Cultivation)

रामतिल की खेती

रामतिल की खेती रामतिल की खेती – भारत के विभिन्न क्षेत्रों में जगनी के नाम से मसहूर रामतिल (गुइजोसिया एबीसीनिका) को लघु तिलहनी फसल माना जाता है। रामतिल की खेती भूमि के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी जाती हैं। क्योंकि इसके

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

उड़द, मूंग की खेती और खरपतवार प्रबंधन

उड़द, मूंग की खेती और खरपतवार प्रबंधन उड़द, मूंग की उत्पादकता दुगुनी करें – भारत वर्ष में दालें मानव आहार के रूप में विशेष रूप से देश की शाकाहारी जनसंख्या हेतु भोजन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। टिकाऊ कृषि हेतु

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

पपीता लगाएं, आमदनी बढ़ाएं

पपीता लगाएं, आमदनी बढ़ाएं पौध प्रवर्धन व्यावसायिक रूप से पपीते का प्रवर्धन बीज के द्वारा ही की जाती है, यद्यपि पोध कलम, ऊतक वर्धन (टीषू कल्चर) तरीकों से सफलतापूर्वक प्रवर्धित किये जा सकते हैं। बीज बोना एवं पौधों की संख्या

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
फसल की खेती (Crop Cultivation)

धान में नील हरित शैवाल से करें नत्रजन उर्वरकों की बचत

धान में नील हरित शैवाल से करें नत्रजन उर्वरकों की बचत धान फसल के लिये सबसे अधिक आवश्यकता नत्रजन की होती है। धान की उपज में कमी का मुख्य कारण नत्रजन का भरपूर मात्रा में न मिलना है। रसायनिक उर्वरक

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

ग्वार की खेती करें

ग्वार की खेती करें ग्वार शुष्क और अर्ध-शुष्क क्षेत्रों में उगाई जाने वाली दलहनी फसल है जो कि एक अत्यन्त सूखा एवं लवण सहनशील है। अत: इसकी खेती असिंचित व बहुत कम वर्षा वाले क्षेत्रों में सफलतापूर्वक की जा सकती

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

धान की सीधी बुआई तकनीक

धान की सीधी बुआई तकनीक धान खाद्यान्न फसलों में गेहूँ के बाद दूसरी सबसे महत्वपूर्ण फसल है। खरीफ में धान की खेती के अंतर्गत ज्यादातर वर्षा आधारित क्षेत्र है जिनमे सिंचाई का साधन सीमित रहता है वहीं धान – गेहूं

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
फसल की खेती (Crop Cultivation)

10 मिनट में कैसे करें स्वस्थ सोयाबीन बीज की जाँच

10 मिनट में कैसे करें स्वस्थ सोयाबीन बीज की जाँच 10 मिनट में कैसे करें स्वस्थ सोयाबीन बीज की जाँच 25 जून 2020, इंदौर। 10 मिनट में कैसे करें स्वस्थ सोयाबीन बीज की जाँच – मानसून की बारिश की दस्तक

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

सोयाबीन की उन्नत कृषि कार्यमाला खेती कैसे करें, प्रमुख किस्में , भण्डारण

सोयाबीन भारत वर्ष की एक बहुत ही महत्वपूर्ण तिलहनी फसलों में से एक है सोयाबीन की उन्नत कृषि कार्यमाला – सोयाबीन भारत वर्ष की एक बहुत ही महत्वपूर्ण तिलहनी फसलों में से एक है, इसकी खेती खरीफ के मौसम में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

सोयाबीन के बेहतर उत्पादन के लिए जरुरी उपाय

सोयाबीन के बेहतर उत्पादन के लिए जरुरी उपाय मध्य प्रदेश में सोयाबीन का उत्पादन बड़े पैमाने पर होता है सोयाबीन के बेहतर उत्पादन के लिए जरुरी उपाय आपको  बता रहें हैं.  देश के कुल सोयाबीन उत्पादन में म.प्र. का योगदान

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

अच्छी अदरक की फसल कैसे प्राप्त करें

खेती किसानी के लिए अदरक की खेती निम्न तरीके से करने से किसान अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं अदरक की खेती जलवायु का महत्व अदरक गर्म एवं नम जलवायु में अच्छी तरह उगाया जाता है। इसकी खेती समुद्र तट

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें