वैज्ञानिकी सलाह से फार्म स्कूल हुआ जैविकमय

Share

बालाघाट। बालाघाट जिले में के.जे. एजुकेशन सोसायटी किसान कल्याण तथा कृषि विकास के साथ आत्मा पी.पी. पार्टनर के रूप में कार्य कर रही है। सोसायटी विकासखंड किरनापुर, बैहर, बिरसा विकासखंड से कृषकों को जानकारी दे रही है। कृषकों को वैज्ञानिकों ने खरीफ की प्रमुख फसल धान, सोयाबीन एवं सब्जी उत्पादन में लगने वाले कीट के उपाय समझाये।
ग्राम मानेगांव, जत्ता बोडून्दाकलां विकासखंड में वैज्ञानिक डॉ. सी.एल. नाकतोड़े ने ब्लास्ट एवं पोंगा रोग से ग्रसित फसलों पर कीट नियंत्रण के लिए कीटनाशक दवाओं के उपाय बताये, डॉ. सी.एल. नाकतोड़े ने सब्जी उत्पादन के लिये विभिन्न हायब्रिड प्रजाति के बीजों एवं किस्में बताई। सोसायटी में विकासखंड बैहर के ग्राम जत्ता एवं विकासखंड बिरसा के ग्राम मानेगांव में भी फार्म स्कूल का आयोजन किया। विकासखंड किरनापुर में समूह दक्षता निर्माण एवं आवासीय अध्ययन इसी तरह ग्राम बोडून्दा कलाँ, छिंदगांव, विकासखंड बैहर एवं बिरसा के ग्राम मानेगांव में समूह एवं आवासीय अध्ययन प्रशिक्षण का आयोजन किया गया सभी गतिविधियों में सोसायटी के जिला समन्वयक देवेन्द्र दुबे उपस्थित थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.