बेमौसम बारिश, ओला प्रभावित किसानों को 30 हजार रुपये हेक्टेयर की राहत

Share

17 जनवरी 2022, भोपालबेमौसम बारिश, ओला प्रभावित किसानों को 30 हजार रुपये हेक्टेयर की राहत मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में बेमौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित हुए किसानों को इस दुख की घड़ी में संकट के पार निकालेंगे। राज्य में फसलों को हुए नुकसान की राहत राशि एवं बीमा राशि का किसानों को शीघ्र भुगतान करवाया जाएगा। उन्होंने कमिश्नर एवं कलेक्टर को निर्देश दिये कि फसलों के नुकसान के सर्वे का कार्य 18 जनवरी तक पूर्ण कराया जाए। सर्वे का कार्य पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ हो। मुख्यमंत्री ने अशोकनगर, निवाड़ी, विदिशा, राजगढ़ जिले के विभिन्न गांव में प्रभावित फसलों का निरीक्षण किया।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के किसानों से संवाद करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में किसानों के दुख-दर्द में शामिल हूं। मैं किसानों की परेशानी को भली-भांति जानता हूँ। किसान अपने पसीने से फसलों को सींचता है, तभी अन्न का दाना मिल पाता है। इसी बीच यदि फसलों पर प्राकृतिक आपदा का कहर बरसता है तो फसलें चौपट हो जाती हैं। इससे किसानों के सपने चकनाचूर हो जाते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि फसलों को जो नुकसान पहुँचा है, उसकी भरपाई राहत राशि तथा बीमा राशि दिलाकर पूरी की जाएगी।

फसल बीमा का 25 प्रतिशत एडवांस मिलेगा

सर्वे उपरांत सूची पंचायतों में लगाई जाए, जिससे संबंधित किसान भी अवगत हो सकें। यदि किसी को आपत्ति हो तो उसका निराकरण किया जा सके। श्री चौहान ने कहा कि जिन किसानों का 50 प्रतिशत से ज्यादा नुकसान हुआ है, उन किसानों को 30 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर राहत राशि दिलाई जाएगी। साथ ही फसल बीमा में फसलों को नुकसान हुआ है उसमें 25 प्रतिशत एडवांस राशि तथा शेष 75 प्रतिशत राशि फसल आकलन के उपरांत दिलाई जाएगी। साथ ही अल्पकालीन ऋण की वसूली स्थगित की जायेगी और अल्पकालीन फसल ऋण को मध्यकालीन ऋण में बदला जायेगा।

पशु हानि पर भी राहत

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनहानि के लिये 4 लाख, गाय-भैंस की मृत्यु पर 30 हजार रूपये और छोटे पशुओं बछड़ा-बछड़ी, बकरा-बकरी तथा मुर्गा-मुर्गी के लिये भी राहत राशि दी जायेगी। यदि मकानों को क्षति हुई है, खपरेल को नुकसान पहुँचा है, तो इसके लिये भी मुआवजा राशि दी जायेगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री के साथ प्रभारी मंत्री, विधायक एवं अधिकारी तथा कृषकगण उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: हाईटेक होती खेती ड्रोन करेगा फसलों पर छिड़काव

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.