राज्य कृषि समाचार (State News)

12 जुलाई को तमिलनाडु के मदुरै में मछली पालन सम्मेलन का आयोजन होगा

Share

11 जुलाई 2024, नई दिल्ली: 12 जुलाई को तमिलनाडु के मदुरै में मछली पालन सम्मेलन का आयोजन होगा – राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में  मत्स्य पालन और जलीय कृषि क्षेत्र के विकास के लिए मछली किसानों, उद्यमियों और मछुआरों द्वारा किए गए योगदान को प्रदर्शित करने और विभिन्न मत्स्य विभाग की विभिन्न पहलों के बारे में जागरूकता बढ़ाने तथा परस्पर  परामर्श को बढ़ावा देने के लिए, 12 जुलाई 2024 को मदुरै, तमिलनाडु में ‘मत्स्य ग्रीष्मकालीन सम्मेलन 2024’ का आयोजन किया जा रहा है।

मत्स्य पालन ग्रीष्मकालीन सम्मेलन 2024 का आयोजन मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ​​ललन सिंह के नेतृत्व में मत्स्य पालन राज्य मंत्री प्रो. एसपी सिंह बघेल और श्री जॉर्ज कुरियन तथा तमिलनाडु सरकार की मत्स्य पालन मंत्री श्री अनिता आर. राधाकृष्णन की गरिमामयी उपस्थिति में मत्स्य पालन विभाग (भारत सरकार) द्वारा किया जा रहा है। इस सम्मेलन में विभिन्न राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के मत्स्य पालन मंत्रियों और अन्य प्रमुख प्रतिनिधियों की भी विशिष्ट उपस्थिति रहेगी।

सम्मेलन में – मत्स्य प्रदर्शनी, मंत्रियों द्वारा राज्य/संघ राज्य क्षेत्रवार चर्चा, मत्स्य परियोजनाओं का वर्चुअल उद्घाटन और मछुआरों के साथ बातचीत,  किसान क्रैडिट कार्ड वितरण और पीएमएमएसवाई उपलब्धि पुरस्कार पत्र, मछली किसान उत्पादक संगठन (एफएफपीओ) पर ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) का अभिनंदन आदि मुख्य आकर्षण होंगे।

मत्स्य पालन ग्रीष्मकालीन सम्मेलन 2024 का उद्देश्य सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एक साथ लाना है, ताकि वे अपनी प्रगति, चुनौतियों, अवसरों को साझा कर सकें और भविष्य की कार्ययोजना तैयार कर सकें। इसमें  संयुक्त सचिव (आईएफ) मत्स्य विभाग, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के उप महानिदेशक (मत्स्य विज्ञान), भी हिस्सा लेंगे ।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements