उच्च तापमान एवं सूखे से सोयाबीन की उत्पादकता में कमी आती है – डॉ वराप्रसाद

Share

12 जनवरी 2023, इंदौर: उच्च तापमान एवं सूखे से सोयाबीन की उत्पादकता में कमी आती है – डॉ वराप्रसाद – भारतीय सोयाबीन अनुसंधान सस्थान, इंदौर द्वारा बुधवार को संस्थान में प्रवासी भारतीय सम्मेलन का हिस्सा रहे प्रोफ.डॉ वी.पी. वराप्रसाद द्वारा संस्थान में मुख्य वक्ता के रूप में “उच्च तापमान एवं सूखे का सोयाबीन पर प्रभाव” विषय पर व्याख्यान दिया गया। स्मरण रहे कि डॉ वराप्रसाद अमेरिका की कांसास स्टेट यूनिवर्सिटी की सस्टेनेबल इंटेंसीफिकेशन इनोवेशन लैब के निदेशक तथा क्रॉप इकोफिसिओलॉजी के महानुभवी प्राध्यापक हैं, साथ ही 2021 में क्रॉप साइंस सोसाइटी ऑफ अमेरिका के अध्यक्ष भी रह चुके हैं ।

 डॉ वी.पी. वराप्रसाद ने कहा, “हम कांसास यूनिवर्सिटी में सोयाबीन पर जलवायु से पड़ रहे प्रभाव पर निरंतर शोध कर रहे हैं , जिसके आधार पर हमने यह पाया है, कि उच्च तापमान एवं सूखे की स्थिति में सोयाबीन की उत्पादकता में कमी आती है, जबकि वातावरण में कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा बढ़ने से तापमान में वृद्धि होती है, जो लम्बे समय में फसल के लिए नुकसानदेह साबित होती है”। उन्होंने ड्रोन के उपयोग से किस तरह फसल का अवलोकन कर उसके विकास को नापा जाता है,की भी जानकारी दी। इसी क्रम में प्रोफ.डॉ वराप्रसाद ने बताया कि समय पर बीज की उपलब्धता होने से किसानों को बीजोपचार के लिए पर्याप्त समय मिलता है, जिसको सर्वश्रेष्ठ पद्धतियों के साथ अपनाना सहायक के रूप में कार्य करता है। अंत में, संस्थान के निदेशक डॉ के. एच. सिंह द्वारा डॉ वराप्रसाद को पुष्प गुच्छ तथा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

महत्वपूर्ण खबर: कपास मंडी रेट (11 जनवरी 2023 के अनुसार)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *