मेक्सिको करेगा मध्यप्रदेश के गेहूं अनुसंधान में सहयोग

Share

जबलपुर। म.प्र. शासन के प्रमुख सचिव, कृषि कल्याण विभाग भोपाल डॉ. राजेश राजौरा, जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विजय सिंह तोमर, संचालक अनुसंधान सेवायें डॉ. एस.के. राव एवं प्रमुख वैज्ञानिक गेहूं अनुसंधान डॉ. आर.एस. शुक्ला के दल ने मेक्सिको का अध्ययन भ्रमण किया। दल ने ओवरेगान एवं अलबेतान समिट मेक्सिको में चल रहे विभिन्न अनुसंधान कार्यों का अवलोकन कर फसल सुधार कार्यक्रम, संकर अनुसंधान, गेहूं गुणवत्ता सुधार, प्राकृतिक रिसोर्स मैनेजमेंट, नई जीनों का विशेष गुणों के लिए चयन, सूखा रोधी किस्मों का विकास आदि पर चल रहे अनुसंधान कार्यों का अवलोकन, चिन्तन और मनन करके अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिकों से गहन विचार-विमर्श कर कृषि तकनीक को साझा किया। मेक्सिको में अंतराष्ट्रीय गेहूं एवं मक्का सुधार केन्द्र पर प्रक्षेत्र दिवस के आयोजन में विभिन्न देशों के नामी-गिरामी वैज्ञानिकों ने शिरकत की। इसी दिन अन्तर्राष्ट्रीय वैज्ञानिकों द्वारा विभिन्न विषयों पर व्याख्यान का आयोजन किया गया जिनमें डॉ. रवि सिंह, डॉ. जीसियो, डॉ. रोसायरा, डॉ. एवियो वेकले, डॉ. श्रीधर भवानी, डॉ. अरूण जोशी एवं डॉ. कारने आशोडा प्रमुख थे। यहां मध्यप्रदेश के गेहूं अनुसंधान की विशेष चर्चा रही। ज्ञात हो सर्वाधिक गेहूं उत्पादन हेतु म.प्र. को लगातार देश का राष्ट्रीय कृषि कर्मण अवॉर्ड प्राप्त हो रहा है।
जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने अवलोकन के दौरान मध्यप्रदेश में गुणवत्तायुक्त गेहूं, संकर गेहूं अनुसंधान एवं फसल अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिये परस्पर सहयोग की संभावनाओं को तलाशा।
इस दौरान डी.जी. सीमिट ग्लोबल गेहूं प्रमुख डॉ. रवि सिंह एवं डॉ. अरूण जोशी से चर्चा की गई एवं आपसी सहयोग से प्रदेश में गेहूं के अनुसंधान को मजबूती प्रदान करने के लिए आपसी सहयोग पर बल दिया गया। मेक्सिको में शोकेसिंग तकनीकी, जीन बैंक एवं विभिन्न प्रदर्शनों का भी वैज्ञानिकों ने अवलोकन किया। साथ ही साथ कृषक प्रक्षेत्रों का भी अवलोकन किया गया जहां कि किसान समिट द्वारा विकसित गेहूं की विभिन्न किस्मों से अधिक उत्पादन लेने हेतु आधुनिक तकनीकी का उपयोग करते हैं।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.