आयात-निर्यात पर पांच दिवसीय प्रशिक्षण सह जागरूकता कार्यक्रम संपन्न

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

02 नवम्बर 2020, धार। आयात-निर्यात पर पांच दिवसीय प्रशिक्षण सह जागरूकता कार्यक्रम संपन्नकृषि विज्ञान केन्द्र धार के सभागृह में जिले में स्थापित उद्योगों एवं कृषि आधारित उद्यम के क्षेत्र में रुचि रखने वाले नव उद्यामियों हेतु पॉंच दिवसीय आयात-निर्यात प्रबध्ंान पर प्रषिक्षण सह जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। यह प्रशिक्षण सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत शासन द्वारा प्रायोजित एवं जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र धार तथा कृषि विज्ञान केन्द्र धार के सहयोग से सेडमैप द्वारा आयोजित किया गया। प्रशिक्षण में आयात-निर्यात के विभिन्न पहलुओं जैसे बिजऩेस कैसे आरंभ करें, एक्सपोर्ट इम्पोर्ट बिजऩेस कंपनी कितने प्रकार की होती है, बिजऩेस कंपनी के लिए प्रोडक्ट्स सिलेक्शन कैसे करें, कौन-कौन से लायसेंस एवं सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है, इम्पोर्टर्स एक्सपोर्टस कैसे खोजें, डील कैसे करें, कॉन्टेक्ट कैसे बनायें, डाक्यूमैंट्स कैसे बनाये, शिपिंग लॉजिस्टिक कैसे होगा, कस्टम क्लीरेंस कैसे होगा आदि पर विस्तार पूर्वक प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें इन्दौर से आए एम.एस.ए.ई. के पेनलिस्ट श्री राकेश अग्रवाल एवं विभिन्न संस्थाओं के विशेषज्ञों द्वारा कृषि उद्यमियों को प्रशिक्षित एवं जागरूक किया। उक्त प्रशिक्षण में इम्पोर्ट एक्सपोर्ट के प्रशिक्षण कार्यक्रम को राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर के कुलपति प्रो. एस.के राव, ने आनलाईन जुड़ कर कृषि उत्पाद के नियम विस्तार पूर्वक प्रशिक्षण दिया। डॉ. एस.एन. उपाध्याय, निदेशक विस्तार संवाएं, रा.वि.सि.कृ.वि.वि, द्वारा ने मालवा-निमाड़ में कृषि को मूल्य संवर्धन प्रदान कर कैसे लाभ कमाया जाए, इस बाबद कृषकों को जागरूक किया।

एपिडा मुम्बई कार्यालय से आनलाईन जुड़ कर ए.जी.एम. श्री प्रशांत वाघमारे ने कृषि उत्पाद के निर्यात के बारे में जानकारी दी। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री ओ.पी. बोरीवाल ने प्रोजेक्ट रिर्पोट एवं शासकीय योजनाओं के बारे में प्रषिक्षण दिया। कृषि विज्ञान केन्द्र धार के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. के. एस. किराड ने कहा कि धार में कृषि उत्पाद के निर्यात पर अपार संभावनाए है, एवं इस प्रषिक्षण से कृषक उद्यमी अपना निर्यात प्रारंभ कर सकेंगे। प्रषिक्षक कार्यक्रम के समापन अवसर पर श्री संतोष वर्मा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत धार, तथा ऑनलाइन माध्यम से डॉ. एस.आर.के.सिंह, निदेषक, कृषि तकनीकि अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, भा.कृ.अ.प., जबलपुर ने कृषकों आयात-निर्यात के विभिन्न पहलुओं पर जागरूक किया। कार्यक्रम में जिले के प्रगतिषील कृषक एवं आयात-निर्यात से जुड़े उद्यमी श्री, अभीषेक सिंह, श्री कोदर सिंह पटैल, श्री नरेन्द्र, श्री पवन कुषवाहा श्रीकांत बोरदिया, श्री संतोष वर्मा, सीताराम निंगवाल प्रकाष राठौर आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सेडमैप के जिला समन्वयक प्रकाष तिलक ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में केन्द्र वैज्ञनिक डॉ. जी.एस.गाठिये, डॉ. जे.एस. राजपूत, श्री गौरव सारस्वत, श्री भूपेन्द्र कुमार कुर्मी, श्री जितेन्द्र नायक का सराहनीय योगदान रहा।

महत्वपूर्ण खबर : कृषि विधेयक-2020 पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 3 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।