पशुपालन (Animal Husbandry)

इंदौर संभाग के हर जिले में एक आदर्श गौशाला बनाए पशुपालन विभाग

Share

16 मई 2024, इंदौर: इंदौर संभाग के हर जिले में एक आदर्श गौशाला बनाए पशुपालन विभाग – संभागायुक्त श्री दीपक सिंह ने पशुपालन विभाग को टारगेट दिया है कि वे प्रत्येक जिले में एक गौशाला को आदर्श रूप में स्थापित करें। संभागायुक्त आज संभाग के सभी जिलों में पशुपालन विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने पशुओं के कृत्रिम गर्भाधान में प्रजनन दर कुछ ज़िलों में कम पाए जाने पर इसमें सुधार के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक उप संचालक अपने अधीनस्थ अमले से तथ्य प्राप्त करें और प्रजनन दर को राज्य के औसत के बराबर लेकर आएं

 बैठक में बताया गया कि इंदौर संभाग के विभिन्न जिलों में पशु चिकित्सा की 69 चलित इकाई कार्य कर रही हैं। गत वित्तीय वर्ष में बयालीस हज़ार पशुओं को इसका लाभ दिया गया है। पशुपालक टोल फ्री नंबर 1962 में कॉल करके इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। संभागायुक्त श्री दीपक सिंह ने पशुपालकों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बनाए जाने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसका लाभ अधिक से अधिक पशुपालकों को मिले।  बताया गया है कि गत वित्त वर्ष में 24 हजार 652 पशु पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड बनाकर दिए गए हैं। बैठक में नेशनल लाइव स्टॉक मिशन के तहत बकरी पालन, कुक्कुट पालन के प्रकरणों की भी समीक्षा की गई। संभागायुक्त श्री दीपक सिंह ने कहा कि सुंदरेल में श्री दीपक पाटीदार और बड़वानी जिले में जामली की गौशालाओं के कार्यों को विभाग रोल मॉडल बनाए।  संभागायुक्त ने शासकीय अनुदान प्राप्त गौशालाओं के लिए भी विभाग की योजना के तहत चारा उत्पादन के लिए ज़मीन चिन्हित करने के निर्देश दिए।  मुख्यमंत्री गौ सेवा योजना के तहत निर्मित गौशालाओं के संचालन का जिम्मा स्व सहायता समूहों को दिया जा रहा है। ऐसे में पशुपालन विभाग स्व सहायता समूह को अच्छी तरह से प्रशिक्षित करें और गौशाला को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने में मददगार बनें।

संभागायुक्त श्री दीपक सिंह ने कहा कि झाबुआ/अलीराजपुर जैसे अन्य जिलों में बकरी पालन छोटे एवं सीमांत परिवारों के लिए एक बड़ा सहारा है। बकरी को गरीब की गाय भी कहा जाता है। ऐसे में दूरदराज के गांवों में बकरी पालन की योजना को विस्तार दें। एक आम आदमी की आर्थिक स्थिति सुधारने में इस योजना को माध्यम बनाएँ। बैठक में बताया गया कि खंडवा में दुग्ध उत्पादन पिछले कुछ वर्षों में बढ़ा है और यहाँ अच्छी गुणवत्ता का दूध प्राप्त हो रहा है। बुरहानपुर जिले के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि उनके जिले में शत प्रतिशत पशुओं का टीकाकरण कर दिया गया है। संभागायुक्त श्री दीपक सिंह ने इंदौर दुग्ध संघ से कहा कि वे चीज़ प्रोडक्ट बनाने के लिए प्रयास करें। आजकल दूध का यह उत्पाद डिमांड में है।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

To view e-paper online click below link: https://www.krishakjagat.org/kj_epaper/Detail.php?Issue_no=36&Edition=mp&IssueDate=2024-05-06

To visit Hindi website click below link:

www.krishakjagat.org

To visit English website click below link:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements