राज्य कृषि समाचार (State News)

इंदौर में मिज़ुशी का विक्रेता सम्मेलन संपन्न

Share

17 मई 2024, इंदौर: इंदौर में मिज़ुशी का विक्रेता सम्मेलन संपन्न – गत दिनों  प्रसिद्ध कम्पनी मिज़ुशी इंडिया प्रा लि द्वारा इंदौर में विक्रेता सम्मेलन आयोजित किया गया , जिसमें कम्पनी के वाइस प्रेसिडेंट श्री चिन्मय भट्टाचार्य ,डाइरेक्टरद्वय श्री रेज़ा जीवानी, श्री अब्बास वर्तेजी , मार्केटिंग डाइरेक्टर श्री लाम सान (जापान ) ,एचआर हेड श्री सईद यफाई, मार्केटिंग को- ऑर्डिनेटर श्री हर्षल पाटिल, रीजनल  सेल्स मैनेजर श्री हिम्मत सिंह राजपूत सहित करीब 150  विक्रेता उपस्थित थे। सम्मेलन में लकी ड्रॉ के विजेताओं को उपहार वितरित किए गए।

श्री जीवानी ने कहा कि मिजुशी का व्यवसाय देश के अलावा विदेशों में भी हो रहा है। मध्य प्रदेश में सभी प्रकार की मूल्य संवर्धित फसलें ली जाती है, इसलिए यह राज्य मिजुशी के लिए अनुकूल है। मिजुशी का मकसद किसानों को उन्नत तकनीक से परिचित  कराकर  उनकी लागत कम करना है।आपने कृषि क्षेत्र में ड्रोन के प्रवेश ,अन्य  परिवर्तन और आगामी चुनौतियों का जिक्र कर कहा कि इंटरनेट के इस युग में अब किसान भी जागरूक हो गया है , इसलिए सभी को अपने उत्पाद प्रदर्शन पर ध्यान देना पड़ेगा। आपने कहा कि आगामी 5 वर्षों में कृषि क्षेत्र में कीटनाशकों के उपयोग में व्यापक परिवर्तन होगा, जिसमें नए उत्पाद की मांग के 50 % उत्पाद हमारी कम्पनी के पोर्टफोलियो में ही रहेंगे, क्योंकि जापान में कई उत्पादों के कच्चे माल जैसे सी विड की उपलब्धता भी हमारे पास  ही है । मिजुशी का उद्देश्य  इंडिया को मेन्युफेक्चरर हब बनाकर यहां से एक्सपोर्ट करने का है। ऐसे में कम्पनी से जुड़े लोगों का भविष्य निश्चित ही उज्जवल रहेगा।  

श्री लाम सान ने अपने उद्बोधन में मध्य प्रदेश में किसानों द्वारा  विविध फसलें उगाए जाने की तारीफ करते हुए कहा कि जैसे भारत और जापान के आपसी  रिश्ते मज़बूत है, वैसे ही व्यावसायिक रिश्तों में भी मज़बूती होना चाहिए। इससे न केवल किसानों का, बल्कि दोनों देशों को लाभ होगा। श्री भट्टाचार्य ने विक्रेताओं के लिए व्यावसायिक योजनाओं , सुविधाओं और नीतियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। अंत में , आयोजित लकी ड्रॉ के विजेता विक्रेताओं  को मोटरसाइकिल, एसी, एलईडी टीवी , मोबाइल फोन , स्मार्ट वाच एवं  सोने -चांदी के सिक्के उपहार में दिए गए।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

To view e-paper online click below link: https://www.krishakjagat.org/kj_epaper/Detail.php?Issue_no=36&Edition=mp&IssueDate=2024-05-06

To visit Hindi website click below link:

www.krishakjagat.org

To visit English website click below link:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements