किसान, उर्वरक अग्रिम भण्डारण योजना का लाभ 15 सितम्बर तक उठाएं

Share

02 सितम्बर 2022, इंदौर: किसान, उर्वरक अग्रिम भण्डारण योजना का लाभ 15 सितम्बर तक उठाएं – प्रायः देखा गया है कि रबी मौसम में कृषकों को विभिन्न प्रकार के रासायनिक खाद विशेषकर डी.ए.पी., यूरिया, एन.पी.के. एवं पोटाश की जब आवश्यकता रहती है, तब कृषकों की अत्यधिक मांग की वजह से उर्वरक विक्रय केंद्रों पर उपलब्ध नहीं रहता और कृषक उर्वरक के लिये परेशान होते हैं । इसी संदर्भ में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के मार्गदर्शन में उर्वरक अग्रिम भण्डार योजना रबी 2022 हेतु उर्वरकों की भण्डारण व्यवस्था की समीक्षा की गई।

उप संचालक कृषि श्री एन.एस. रावत ने बताया कि कृषकों को उर्वरकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु शासन द्वारा रासायनिक उर्वरक की अग्रिम भण्डारण योजना संचालित की जा रही है । इस योजना में रबी 2022 के लिये रासायनिक उर्वरक के अग्रिम उठाव हेतु विपणन संघ/सहकारी समितियों के गोदामों में अद्यतन स्थिति में डी.ए.पी. 1588 मे.टन एन.पी.के. 86 मे.टन, यूरिया 1731 मे.टन, एवं एम.ओ.पी. 135 मे.टन भण्डारित करवाया गया है। कृषक बंधु 15 सितम्बर तक सहकारी समितियों के गोदामों से अपनी आवश्यकता के अनुसार उर्वरक नगद/साख पर प्राप्त कर योजना का लाभ उठा सकते हैं ।

महत्वपूर्ण खबर: लहसुन, प्याज के किसानों की मांग लेकर कृषि मंत्री पटेल दिल्ली में

योजनान्तर्गत विपणन संघ/सहकारी समितियों के गोदामों में भण्डारण कार्य निरंतर जारी है। जिले में सहकारी समितियों की भण्डारण क्षमता सीमित है। यदि कृषक बंधु उक्त योजना में अपनी आवश्यकता का रासायनिक उर्वरक सहकारी समितियों से प्राप्त कर लेते हैं, तो सहकारी समितियों की भण्डारण क्षमता और कार्यक्षमता में दोनों वृद्धि हो सकेगी। जिससे क्षेत्र के अन्य कृषकों को उनकी ज़रूरत के मुताबिक रासायनिक उर्वरक सहकारी समितियां में भण्डारित करने मे मदद मिलेगी और ग्राम/जिले में रासायनिक उर्वरकों की उपलब्धता बनी रह सकेगी। अतः कृषक बंधु 15 सितम्बर तक उर्वरक का अग्रिम भण्डारण कर निश्चिन्त हो सकते हैं।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.