राज्य कृषि समाचार (State News)

विलुप्त हो रही कोदो-कुटकी-रागी को सहेजें किसान भाई

Share

12 अप्रैल 2023, डिण्डौरी ।  विलुप्त हो रही कोदो-कुटकी-रागी को सहेजें किसान भाई – अखिल भारतीय समन्वित लघुधान्य अनुसंधान परियोजना, क्षेत्रीय कृषि अनुसंधान केन्द्र, डिण्डौरी द्वारा आदिवासी उपयोजना में कृषि विज्ञान केन्द्र, डिण्डौरी में एक दिवसीय कृषक प्रषिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। साथ ही साथ विभिन्न महत्वपूर्ण कोदन्न फसलें जो कि इस क्षेत्र से विलुप्त हो चुकी हैं को प्रदर्शनी के माध्यम से कृषकों को जानकारी  दी गई। कार्यक्रम में डॉ. डी.एन.श्रीवास वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं केन्द्र प्रभारी ने कोदन्न फसलों जैसे- कोदो, कुटकी, रागी, सांवा, चीना आदि की जानकारी किसानों को दी।

कृषि विज्ञान केन्द्र प्रभारी डॉ. पी.एल.अम्बूलकर कीट वैज्ञानिक द्वारा लघुधान्य फसलों में लगने वाले कीट एवं व्याधियों के रोकथाम से संबंधित जानकारी किसानों को दी। साथ ही श्रीअन्न के मूल्य संवर्धन एवं प्रस्संकरण संबंधी जानकारी केन्द्र की वैज्ञानिक डॉ. मनीषा श्याम द्वारा किसानों को दी गई। डॉ. गीता सिंह वैज्ञानिक विस्तार सेवाएं द्वारा सभी किसानों को मोबाईल संदेश एवं अन्य विस्तार योजनाओं के बारे में अवगत कराया। डॉ. सतेन्द्र कुमार मत्स्य वैज्ञानिक द्वारा कृषकों को लघुधान्य फसलों के साथ अतिरिक्त आय हेतु मत्स्य पालन से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी गई साथ ही श्री अवधेश कुमार पटेल कार्यक्रम सहायक (उद्यानिकी) द्वारा क्षेत्र में उगाई जाने वाली उद्यानिकी फसलों के बारे में जानकारी दी। उपरोक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम में किसानों को लघुधान्य फसलों के उन्नत बीज, जैविक खाद, एवं अंर्तशस्यन औजार को प्रदर्शित करते हुए कृषकों को वितरण किया गया। उपरोक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम में केन्द्र के कर्मचारी श्री बी.पी.कुरील, श्रीमती आस्था प्रधान मरावी, श्री सुनील कुमार एवं मदनमोहन पवार की उपस्थिति एवं सहयोग सराहनीय रहा। कार्यक्रम का संचालन कु. श्वेता मसराम कार्यक्रम सहायक (शस्य विज्ञान) द्वारा किया गया।

महत्वपूर्ण खबर: गेहूं की फसल को चूहों से बचाने के उपाय बतायें

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *