किसानों को उनके अधिकारों की अलख जगाते कृषि मंत्री कमल पटेल

Share

किसान पंचायत में किसान बोले हमें नहीं मालूम हमारी फसल का रेट क्या? मंत्री ने उनके हक के साथ बताएं उनके अधिकार…

2 सितम्बर 2022, भोपाल/देवास/हरदा । किसानों को उनके अधिकारों की अलख जगाते कृषि मंत्री कमल पटेल – किसानों को खेती किसानी करते हुए इस बात का एहसास ही नहीं होता है कि उनकी फसल की खरीदी का उचित मूल्य क्या है और उन्हें व्यापारी क्या दाम दे रहा है।मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल जो स्वयं एक किसान है, उन्हें मालूम है कि किसान को उसकी फसल का कितना दाम मिलना चाहिए। किसानों को उनकी फसल का उचित दाम ना मिलने का उदाहरण स्वयं किसान पंचायत में किसानों ने दिया। नेमावर में भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा के आयोजित सम्मेलन( किसान पंचायत) में उन्होंने किसानों से इस बाबत कुछ सवाल किए। जिसका उत्तर वहा मौजूद किसान भाई नहीं दे पाए इसके बाद किसान नेता एवं कृषि मंत्री कमल पटेल ने उनको बताया कि फसल का वाजिब दाम क्या है और क्यों सरकार उनकी फसल को समर्थन मूल्य पर खरीदी कर रही है।उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी सरकार और राज्य में शिवराज सरकार किसान हितेषी सरकार है और मैं आपका भाई किसान होकर किसान मंत्री हूं। उन्होंने किसानों से पूछा कि आपकी ग्रीष्मकालीन मूंग की फसल प्रति क्विंटल किस दाम पर बेच रहे थे। इस पर किसानों ने जवाब दिया कि तीन से चार हजार प्रति क्विंटल व्यापारी को बेच रहे थे। तभी मंत्री ने तपाक से प्रश्न पूछा कि सरकार ने जब घोषणा की कि आप की फसल सरकार समर्थन मूल्य पर खरीदेगी तब आप से व्यापारियों ने क्या रेट पर मूंग खरीदी का ऑफर दिया तो किसानों ने बोला कि 5 हजार से 5 हजार 500 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से। कृषि मंत्री ने पूछा कि आज की स्थिति में सरकार का समर्थन मूल्य खरीदी ₹7275 है तो आप बताइए आपको प्रति क्विंटल पर ₹3000 प्रति क्विंटल का लाभ हो रहा है। छोटे किसान जैसे कि जिनके पास 1 एकड़ है उनको 18000, जिनके पास 2 एकड़ है उनको 36000 का ज्यादा फायदा हो रहा है। उन्होंने किसानों को बताया कि किसानों की फसल का 25 क्विंटल खरीदी का आदेश कांग्रेस की मनमोहन सरकार के समय का है लेकिन जब हमारी सरकार बनी। शिवराज सिंह मुख्यमंत्री बने और मैं कृषि मंत्री तब इस खरीदी लिमिट को बढ़ाकर 40 क्विंटल किया गया है।अभी ग्रीष्मकालीन मूंग 25 क्विंटल के हिसाब से खरीदी जा रही है लेकिन दो-तीन दिन में इसके आदेश 40 क्विंटल खरीदने के हो जाएंगे। मंत्री पटेल ने किसानों को बताया कि प्रदेश मे सभी वेयरहाउसो में फ्लैट कांटे से तुलाई के आदेश दिए है और अगर जिस किसी भी वेयरहाउस पर फसल खरीदी फ्लैट कांटे से नहीं की गई तो संबंधित को सस्पेंड कर दिया जाएगा।

महत्वपूर्ण खबर:इंदौर कृषि महाविद्यालय में आज से तालाबंदी

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.