इंदौर कृषि महाविद्यालय में आज से तालाबंदी

Share

01 सितम्बर 2022, इंदौर: इंदौर कृषि महाविद्यालय में आज से तालाबंदी – सरकार द्वारा कृषि महाविद्यालय की जमीन हड़पने के विरोध में कृषि महाविद्यालय में आज से पूर्ण तालाबंदी की जा रही है। आंदोलनकर्ता छात्र – छात्राओं ने बताया कि जब तक कृषि महाविद्यालय की जमीन को हड़पने की नीति सरकार वापस नहीं लेगी तब तक पूर्ण रूप से तालाबंदी रहेगी।

उल्लेखनीय है कि इंदौर कृषि महाविद्यालय की 124 हेक्टेयर भूमि में से कृषि अनुसन्धान की ज़मीन को छीनने की कोशिश पहले भी दो बार हो चुकी है। जबकि इस ज़मीन पर कई कृषि अनुसन्धान की परियोजनाएं चल रही है। मालवा -निमाड़ के कई छात्र यहाँ कृषि की शिक्षा पा रहे हैं। लेकिन अब शहर सघन वन विकसित करने के नाम पर इसे लेने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके विरोध में कृषि संकाय के वर्तमान और पूर्व छात्र लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और धरना भी दिया है। कृषि महाविद्यालय की ज़मीन को बचाने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा और अन्य राजनीतिक दलों ने समर्थन देने की घोषणा की थी।

महत्वपूर्ण खबर: किसानों के लिए नए ट्रांसफार्मर मात्र दो घंटे में होंगे उपलब्ध

यह बात किसी को समझ में नहीं आ रही है कि एक साल पहले जिस महाविद्यालय को कृषि विवि बनाने की घोषणा स्वयं कृषि मंत्री श्री कमल पटेल कर चुके थे और जिन्होंने स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर कृषि विश्व विद्यालय का नामकरण भी कर दिया था , तो फिर ऐसे क्या हालात बन गए कि इसकी ज़मीन को किसी और उद्देश्य के लिए लेने की कोशिश की जा रही है , जबकि कृषि विश्व विद्यालय बनने पर तो और अधिक भूमि की ज़रूरत पड़ती। अब देखना यह है कि कृषि छात्रों की इस तालाबंदी का क्या असर पड़ता है। कृषि महाविद्यालय की इस ज़मीन को बचाने के लिए समर्थन देने वाले एल्युमनी एसोसिएशन,एग्री अंकुरण संस्था और किसान संगठनों की आगामी भूमिका पर सबकी नज़रें टिकी हुई हैं।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.