सोयाबीन के चारे का करे सफाया ‘टरगा सुपर’

Share

Bharat-Sirvi

8 जुलाई 2022, धार । सोयाबीन के चारे का करे सफाया ‘टरगा सुपर’ – सुपर तरीके से सोयाबीन के चारे का सफाया करता है धानुका का टरगा सुपर। यह कहना है किसान भरत सिर्वी का।
ग्राम कंकराज, तहसील बदनावर, जिला धार में 25 एकड़ की जमीन पर सोयाबीन की खेती करने वाले किसान भरत सिर्वी कहते हैं कि मैं विगत कई वर्षों से सोयाबीन में उगने वाले चारे (खरपतवार) के सफाया हेतु धानुका के टरगा सुपर का उपयोग करता आ रहा हूँ। टरगा सुपर सोयाबीन में सकरी पत्ती वाले खरतपवारों जैसे सांवा, दूबघास, बट्टा आदि को अच्छी तरह से नियंत्रित करता है। टरगा सुपर के उपयोग से फसल पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है, बल्कि फसल पूरी तरह से स्वस्थ रहती है।

किसान भरत सिर्वी ने बताया कि उन्होंने सोयाबीन की कई अन्य चारामार दवाईयों का प्रयोग किया लेकिन उनके उतने अच्छे परिणाम नहीं मिले। जबकि धानुका टरगा सुपर से अच्छे परिणाम मिले हैं। श्री सिर्वी ने बताया कि सोयाबीन की फसल में टरगा सुपर 300 से 400 मिलीलीटर प्रति एकड़ की दर से प्रयोग करने से अच्छा परिणाम मिलता है। इसका उपयोग 20 से 25 दिन में जब चारे की 2 से 4 पत्तियों वाली अवस्था हो, किया जाता है। छिडक़ाव के 4 से 5 दिनों बाद परिणाम मिलने लगते हैं।

श्री सिर्वी ने कहा कि वह सोयाबीन की फसल में टरगा सुपर के अपने लम्बे अनुभव के आधार पर किसानों को इसका उपयोग करने की सलाह देते हैं। इस संबंध में किसान उनसे मो.: 8305320330 पर भी संपर्क कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण खबर: छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार में 6 खाद दुकानें सील

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.