ब्राजील के सहयोग से हिसार में पशुओं की नस्ल सुधार के लिए उत्कृष्टता केंद्र खोला जाएगा

Share

21 जुलाई 2022, चण्डीगढ़: ब्राजील के सहयोग से हिसार में पशुओं की नस्ल सुधार के लिए उत्कृष्टता केंद्र खोला जाएगा – हरियाणा के किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए  हिसार में पशुओं की नस्ल सुधार के लिए उत्कृष्टता केंद्र ब्राजील के सहयोग से स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा, पशुओं के आहार में प्रोटीन की मात्रा को बढाने के लिए कनाडा की कंपनी द्वारा एक सेंटर राज्य में खोला जाएगा जिसके तहत इस कंपनी का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही हरियाणा का दौरा करेगा और उसके पश्चात एक समझौता ज्ञापन होगा।

यह जानकारी यहां हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण और पशुपालन एवं डेयरिंग मंत्री श्री जे.पी. दलाल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी।

ब्राजील दौरे के संबंध में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि ब्राजील में वर्ष 1911 में भावनगर के राजा ने गिर नस्ल की गायों को दान के स्वरूप ब्राजील को दिया था और उसके बाद ब्राजील ने इन गायों की नस्ल सुधार में काम किया गया। उन्होंने कहा कि ब्राजील में गिर गाय की नस्ल में सुधार कर गिरलैंडो नस्ल को तैयार किया गया है जो औसतन 15 लीटर दूध देती हैं जिसमें 99 प्रतिशत जेनेटिक्स हमारे देश की गिर गाय के पाए जाते हैं।

उन्होंने कहा कि स्वदेशी नस्ल की गायों के विकास हेतु एम्ब्रापा, ब्राजील के सहयोग से हरियाणा में उत्कृष्ठता केन्द्र की स्थापना की जाएगी। ब्राजीलियन एसोसिएशन ऑफ जेबू ब्रीडर्स (एबीसीजेड) से गिर जर्मप्लाज्म (वीर्य/भ्रुण) का आयात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि एम्ब्रापा से एम्ब्रयो ट्रांस्फर टैक्नोलोजी (ईटीटी) और इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन(आईवीएफ) पर हरियाणा सरकार के मानव संसाधन का प्रशिक्षण भी होगा।

कनाडा दौरे के संबंध में उन्होंने बताया कि राजकीय पशुधन फार्म, हिसार में सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पी.पी.पी.) से सुअर पालन (200 क्षमता प्रजनन फार्म) के लिए उत्कृष्टता केन्द्र की स्थापना करना, राजकीय पशुधन फार्म, हिसार में स्वच्छ दूध उत्पादन हेतु आधुनिक प्रबन्धन डेयरी फार्म प्रथाओं सहित अत्याधुनिक डेयरी फार्म स्थापित करना, स्वदेशी गायों और भैंसों के लिए हिसार में सैक्सड सोर्टिड सीमन संस्थान की स्थापना हेतु सीमेक्स जेनेटिक्स से सहयोग मिलेगा। इसके अलावा, अगले वर्ष मई माह में एम्ब्रयो ट्रांस्फर टैक्नोलोजी (ईटीटी) के प्रशिक्षण हेतु मानव संसाधन विनियम, जिसके लिए यह सहमति बनी है कि हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड (एच.एल.डी.बी.) द्वारा सास्काचेवान विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण हेतु विभाग के 2-3 अधिकारियों को नामांकित किया जाएगा।

इस अवसर पर हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन श्री रणधीर सिंह गोलन, हरियाणा वन विकास निगम के चेयरमैन धर्मपाल गोंदर, हरियाणा पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग के आयुक्त एवं सचिव श्री पंकज अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: बायो फर्टिलाईजर और कीटनाशकों के उपयोग को बढ़ावा दे रही है केन्द्र सरकार

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.