उद्यानिकी फसलों का रकबा बढ़ाकर फसल चक्र बदलें : एपीसी

भोपाल/इन्दौर। किसानों को परम्परागत खेती करने के साथ-साथ उद्यानिकी फसलों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। उद्यानिकी फसलों का रकबा बढ़ाकर किसानों को फसल चक्र बदलने के लिए प्रोत्साहित करने की जरूरत है इसके लिए अधिकारी कार्ययोजना बनाएं। क्योंकि सरकार खाद्य

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

उद्यानिकी फसलों का रकबा बढ़ाकर फसल चक्र बदलें : एपीसी

भोपाल/इन्दौर। किसानों को परम्परागत खेती करने के साथ-साथ उद्यानिकी फसलों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। उद्यानिकी फसलों का रकबा बढ़ाकर किसानों को फसल चक्र बदलने के लिए प्रोत्साहित करने की जरूरत है इसके लिए अधिकारी कार्ययोजना बनाएं। क्योंकि सरकार खाद्य

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मत्स्य पालन

अधिक आय देने वाला सहायक व्यवसाय मछलीपालन सभी प्रकार के छोटे-बड़े मौसमी तथा बारहमासी तालाबों में किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त ऐसे तालाब जिनमें अन्य जलीय वानस्पतिक फसलें जैसे- सिंघाड़ा, कमलगट्टा, मुरार (ढ़से ) आदि ली जाती है, वे

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

ग्रामीण तालाबों में मत्स्य पालन

ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश तालाब ग्रामीणों के द्वारा ही निर्मित किये जाते हैं। तालाबों के निर्माण के लिए स्थान का चयन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिये कि तालाब का निर्माण ऐसे स्थान में किया जाये,

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मत्स्य पालन हो सकता है आमदनी बढ़ाने का जरिया

किसानों की आय बढ़ाने में मत्स्य पालन अपना विशेष योगदान दे सकता है। मत्स्य पालन में भारत चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है। देश में वर्ष 2015-16 में 107.9 लाख टन मत्स्य का उत्पादन हुआ

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मत्स्य महासंघ ने दिया 4 करोड़ 41 लाख का रायल्टी चेक

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को गत दिनों मंत्रालय में वित्तीय वर्ष 2016-17 के मत्स्योत्पादन पर मत्स्य महासंघ द्वारा 4 करोड़ 41 लाख रूपये की रॉयल्टी का चेक भेंट किया गया। इस अवसर पर मत्स्य-पालन मंत्री श्री अंतर सिंह

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

मछली पालन के लिए स्थान, जल और मिट्टी है खास

तालाबों का निर्माण ऐसे स्थान पर किया जाये, जहां की मिट्टी में अच्छी उर्वराशक्ति हो और जल का रिसाव न हो। तालाब ऐसे स्थान में निर्मित किये जायें जहां मीठे जल के स्रोत हों तथा उनके क्षतिग्रस्त होने की संभावना

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें