राज्य कृषि समाचार (State News)

नीमच, गुना, शिवपुरी और श्योपुरकलां जिलों में अति भारी वर्षा संभावित

Share

05 जुलाई 2024, इंदौर: नीमच, गुना, शिवपुरी और श्योपुरकलां जिलों में अति भारी वर्षा संभावित – मौसम केंद्र, भोपाल से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के  नर्मदपुरम संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर; भोपाल, इंदौर,उज्जैन संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर; ग्वालियर, चंबल, रीवा, जबलपुर, शहडोल, सागर संभागों के जिलों में सभी स्थानों पर वर्षा दर्ज़ की गई एवं शेष सभी संभागों के जिलों में मौसम मुख्यतः शुष्क रहा। कुम्भराज में सर्वाधिक 105.0 मिमी वर्षा दर्ज़ की गई। मध्यप्रदेश में 1 जून से 5 जुलाई तक दीर्घावधि औसत से 4 % कम वर्षा हुई है। पूर्वी मध्यप्रदेश में औसत से 12 % कम और पश्चिमी मध्यप्रदेश में औसत से 4 % अधिक वर्षा हुई है।

मौसम की स्थिति – वर्तमान में  मानसून ट्रफ अब बीकानेर, ओराई, चुर्क, डाल्टनगंज,पुरलिया से होकर और पूर्व – दक्षिण – पूर्व की ओर उत्तर – पूर्व बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। इसके अलावा पांच  चक्रवातीय परिसंचरण पश्चिमी राजस्थान और संलग्न पाकिस्तान के ऊपर, पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर, पश्चिमी राजस्थान पर, दक्षिण -पश्चिमी उत्तर प्रदेश , दक्षिणी  गुजरात के ऊपर सक्रिय हैं। इसके अलावा  दक्षिण गुजरात और केरल तटों के साथ मध्य समुद्र तल पर एक अपतटीय ट्रफ  विस्तृत है।

पूर्वानुमान – मौसम केंद्र ने नीमच, गुना, शिवपुरी और  श्योपुर कलां जिलों में  अनेक स्थानों पर वज्रपात  के साथ झंझावात / अति भारी वर्षा (115.6 – 204.4 मि .मी.) की संभावना जताई है। जबकि राजगढ़, आगर मालवा, मंदसौर, अशोकनगर, भिंड, मुरैना,सिंगरौली, सीधी, रीवा, मऊगंज, सतना, अनूपपुर,शहडोल, डिंडोरी और  मैहर जिलों में अनेक स्थानों पर वज्रपात के साथ झंझावात / भारी  वर्षा (64.5 – 115.5 मि .मी.) होने की संभावना है। वहीं भोपाल, राजगढ़, झाबुआ, धार, इंदौर, रतलाम,  उज्जैन , देवास, शाजापुर, आगरमालवा, मंदसौर, नीमच, भिंड , मुरैना,श्योपुरकलां , सिंगरौली, सीधी, रीवा, मऊगंज, सतना,अनुपपुर, शहडोल, उमरिया , डिंडोरी ,कटनी, जबलपुर,छिंदवाड़ा,सिवनी, मंडला, बालाघाट,  पन्ना , दमोह, सागर, छतरपुर,टीकमगढ़,निवाड़ी, मैहर औरपांढुर्ना जिलों में अनेक स्थानों पर तथा  गुना, अशोकनगर, शिवपुरी और दतिया जिलों में अधिकांश स्थानों पर वर्षा होने की संभावना है। शेष जिलों में वर्षा / गरज चमक के साथ बौछारें पड़ेंगी।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements