खेती में अत्यधिक रसायनिक खाद और कीटनाशकों का उपयोग घातक : श्री यादव

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

भगवानपुरा और सेगांव में बांटे फसल ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र

खरगोन । प्रदेश के कृषि, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री सचिन सुभाष यादव ने गत दिनों भगवानपुरा और सेगांव तहसील में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के कार्यक्रम में कहा कि सरकार को जो भी वक्त मिला है इस पूरे समय में किसानों और गरीबों के हितों की परवाह की है। उसी का परिणाम है कि आज हम प्रथम चरण में 20 लाख से अधिक किसानों के फसल ऋण माफ कर चुके हैं। सरकार ने जो लक्ष्य तय किया है उसमें अब तक कई लक्ष्य पूरे कर चुके हैं। चुनौतियां कम नहीं हैं फिर भी फसल ऋण माफ करने का लक्ष्य तय किया था। वो भी पूरा होने को है द्वितीय चरण में किसानों के ऋण माफ किए जा रहे हंै। हमने तय किया था कि किसानों के लिए फिर से बैंक और सहकारी संस्थाएं ऋण उपलब्ध कराएं, अब बैंक किसानों को ऋण देने लगी हंै। कार्यक्रम के स्वागत संबोधन में कृषि उप संचालक एमएल चौहान ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कमला केदार डावर, कृषि संयुक्त संचालक आरएस सिसोदिया, कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड, पुलिस अधीक्षक श्री सुनील पांडेय, जिला पंचायत सीईओ श्री डीएस रणदा, एसडीएम अभिषेक गेहलोत सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
कृषि मंत्री श्री यादव ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि अब राज्य सरकार किसानों की कृषि में लागत कम करने की दिशा में योजना पर कार्य कर रही है। कृषि मंत्री श्री यादव ने उपस्थित किसानों से गौ आधारित खेती करने का भी आव्हान किया। उन्होंने कहा कि अत्यधिक मात्रा में रसायनिक खाद व कीटनाशक का उपयोग समाज के लिए घातक साबित होने लगा है। समाज को जैविक खाद उपलब्ध करना भी किसानों को सोचना चाहिए। कृषि मंत्री श्री यादव द्वारा सेगांव व भगवानपुरा में जय किसान फसल ऋण माफी योजना अंतर्गत 5551 किसानों को 33 करोड़ 49 लाख रूपए के फसल ऋण माफ किए हंै।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 3 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।