राज्य कृषि समाचार (State News)

कृषि उत्पादन आयुक्त द्वारा सागर संभाग की समीक्षा 19 जून को

Share

15 जून 2024, सागर: कृषि उत्पादन आयुक्त द्वारा सागर संभाग की समीक्षा 19 जून को – कृषि उत्पादन आयुक्त (ए.पी.सी.) की अध्यक्षता में सागर संभाग की समीक्षा बैठक का आयोजन 19 जून 2024 को किया गया है, जिसमें रबी 2023-24 की समीक्षा और खरीफ 2024 के कार्यक्रम का निर्धारण किया जाएगा। यह बैठक विभागवार आयोजित की जायेगी जिसमें कृषि और सहकारिता विभाग एवं संबद्ध संस्थाओं की समीक्षा की जाएगी साथ ही उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, पशुपालन एवं डेयरी विकास विभाग, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विभाग तथा संबद्ध संस्थाओं की समीक्षा की जायेगी। उक्त बैठक की तैयारियों को लेकर कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित कर तैयारियों की समीक्षा की और आवश्यक निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री आर्य ने इस संबंध में आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले के कृषि एवं कृषि संबद्ध सभी विभागों की अद्यतन जानकारी के साथ समीक्षा की। उन्होंने विभागवार रबी 2023-24 की लक्ष्य पूर्ति और 2024-25 के लिए प्रस्तावित कार्य योजना और नवाचारों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि संभागीय बैठक के लिए तैयार किए जा रहे प्रेजेंटेशन में जिले में किए जा रहे नवाचार सहित सभी विभाग अपने-अपने अन्य नवाचारों को भी अनिवार्य रूप से शामिल करें। साथ ही सभी अधिकारियों को तय तिथि एवं समय पर अपने विभागीय वार्षिक लक्ष्य, उपलब्धियां एवं विभागीय योजनाओं की अद्यतन प्रगति विवरण और रबी 2023-24 की प्रगति एवं खरीफ 2024 की तैयारी की जानकारी सहित 19 जून को आयोजित होने वाली बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें।  बैठक में संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अदिति यादव, कृषि वैज्ञानिक, उप संचालक कृषि, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं, महाप्रबंधक जिला केंद्रीय सहकारी बैंक, उपायुक्त सहकारिता, जिला आपूर्ति अधिकारी, उप संचालक उद्यानिकी, वेयर हाउस, नागरिक आपूर्ति निगम सहित कृषि संबंधित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में  कलेक्टर ने  नरवाई के बेहतर प्रबंधन के लिए हैप्पी सीडर, सुपर सीडर के उपयोग और ग्रीष्म कालीन मूंग की खेती के संबंध में लोगों में जागरूकता लाने, रसायनों के बढ़ते उपयोग को रोकने और जैविक खेती को बढ़ावा देने, ग्रामीणों को आवश्यक प्रशिक्षण देने, प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने, मत्स्य पालन में तालाबों की संख्या बढ़ाने आदि अन्य महत्वपूर्ण निर्देश दिए।

सायंकाल चौपाल लगाकर करें किसानों से परिचर्चा –  कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने उपसंचालक कृषि को निर्देश दिए कि वे विभागीय अधिकारियों के माध्यम से सायंकाल में चौपाल लगाकर किसानों से परिचर्चा करें। उन्हें खाद, बीज, उपकरणों एवं तकनीकी के बारे में आवश्यक जानकारी दें। साथ ही आवश्यकता होने पर संबंधित उपकरण, उर्वरकों का डेमोंसट्रेशन भी दें।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements