डिफॉल्टर और संस्था सदस्य नहीं होने पर भी किसानों को मिलेगा उर्वरक

Share

22 सितम्बर 2022, इंदौर: डिफॉल्टर और संस्था सदस्य नहीं होने पर भी किसानों को मिलेगा उर्वरक – राज्य सरकार ने रबी सीजन 2022 -23 में ऐसे कृषक जो संस्था के सदस्य नहीं हैं या संस्था के चूककर्ता (डिफ़ॉल्टर ) हैं,को भी आसानी से रासायनिक उर्वरक उपलब्ध कराने को कहा गया है। इसी तारतम्य में गत दिनों आयुक्त, सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाएं , मप्र भोपाल ने आदेश जारी किया है। इस आदेश के संदर्भ में कलेक्टर ,इंदौर ने इंदौर जिले के जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखाओं से संबंधित कुछ समितियों का चयन किया है, जो यूरिया,डीएपी,एनपीके काम्प्लेक्स और एसएसपी उर्वरक नियमित सदस्यों को प्राथमिकता के साथ -साथ जो संस्था के डिफ़ॉल्टर कृषक एवं जो कृषक सदस्य नहीं है उन्हें भी नगद में रासायनिक उर्वरक उपलब्ध करवाएगी।

इंदौर जिले की विकासखण्डवार जिला केंद्रीय सहकारी बैंक शाखाओं से सम्बद्ध नगद उर्वरक विक्रय हेतु चयनित समितियां इस प्रकार हैं -इंदौर विकास खंड में किला मैदान शाखा की सेवा सहकारी समिति ,भँवरासला, गाँधी नगर शाखा की सिंहासा ,साकेत नगर शाखा की बुरानाखेड़ी ,खुड़ैल शाखा की कम्पेल ,राऊ शाखा की पिगडंबर ,हातोद शाखा की हातोद,बसांद्रा और संयोगितागंज की दुधिया सहकारी समिति। देपालपुर विकास खंड में देपालपुर शाखा की गोकलपुर ,गौतमपुरा शाखा की छडोदा,बेटमा शाखा की रंगवासा,आगरा शाखा की आगरा समिति और अटाहेड़ा शाखा कीअटाहेड़ा समिति। इस प्रकार महू विकास खंड में महू शाखा में कोदरिया , अम्बाचंदन औरजामली,मानपुर शाखा की मानपुर समिति ,दतोदा शाखा की दतोदा समिति तथा सांवेर विकासखंड में सांवेर शाखा में दर्जी कराड़िया ,अजनोद शाखा में नागपुर और धतुरिया , क्षिप्रा शाखा में डकाच्या और बरलाई समिति और मांगलिया शाखा में मांगलिया सहकारी समिति का चयन किया गया है। किसानों से ऋण पुस्तिका /आधार कार्ड की छाया प्रति प्राप्त कर रकबे के अनुपात में पीओएस मशीन के माध्यम से उर्वरक प्रदन किया जाएगा।

महत्वपूर्ण खबर: मंदसौर मंडी में सोयाबीन आवक बढ़ी; भाव पिछले साल की तुलना में कम लेकिन एमएसपी से अधिक

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.