राज्य कृषि समाचार (State News)

मुख्यमंत्री डॉ. यादव का बड़ा ऐलान: किसानों के लिए नई योजनाओं की सौगात, कृषि उपज मंडियों में सख्ती बढ़ाने के निर्देश

Share

29 जून 2024, भोपाल: मुख्यमंत्री डॉ. यादव का बड़ा ऐलान: किसानों के लिए नई योजनाओं की सौगात, कृषि उपज मंडियों में सख्ती बढ़ाने के निर्देश – मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने प्रदेश में तुअर के उत्पादन को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा की कोदो-कुटकी के रकबे को बढ़ाने से पानी-बिजली का उपयोग संतुलित होगा तथा फसल चक्र में भी सुधार होगा, किसानों को कोदो-कुटकी की फसल लेने के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है।

गलत फसल के चुनाव पर अपनी बात कहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा फसल चक्र पर ग्रीष्मकालीन फसल लेने के नकारात्मक प्रभाव से  भी किसानो को अवगत कराना जरूरी है।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव किसान लाभार्थी उन्मुखी योजनाएँ सहित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना तथा कृषि विविधीकरण के लिए किया जा रहे प्रयासों पर मंत्रालय में  कृषि विभाग की समीक्षा  कर रहे थे। बैठक में किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री ऐदल सिंह कंषाना, मुख्य सचिव श्रीमती वीरा राणा उपस्थित थीं।

कृषि उपज मंडी में गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित सचिव होंगे जिम्मेदार

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि कृषि उपज मंडियों की व्यवस्था को चाक-चौबंद रखने के लिए वरिष्ठ अधिकारी मंडियों के तौल-काँटे, वित्तीय लेन-देन तथा अन्य व्यवस्था का आकस्मिक निरीक्षण करें। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों के हितों से कहीं भी खिलवाड़ ना हो और मंडी व्यवस्था के प्रति किसानों का विश्वास बरकरार रहे। कलेक्टर कृषि उपज मंडी के संचालन पर भी निगरानी रखें। कहीं पर भी कृषि उपज मंडी में गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित सचिव जिम्मेदार होंगे, उनके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने वेयरहाउस निर्माण व उपयोग के प्रावधानों में किसानों के हितों को सुनिश्चित करने के लिये आवश्यक संशोधन करने के निर्देश दिए।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements