राज्य कृषि समाचार (State News)

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने श्री अन्न महोत्सव में किसानों का किया सम्मान, कृषि विकास के लिए किए महत्वपूर्ण ऐलान

Share

01 जुलाई 2024, भोपाल: मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने श्री अन्न महोत्सव में किसानों का किया सम्मान, कृषि विकास के लिए किए महत्वपूर्ण ऐलान – मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने रानी दुर्गावती श्री अन्न प्रोत्साहन योजनांतर्गत आयोजित “श्री अन्न महोत्सव एवं किसान सम्मान समारोह” में किसानों का अभिनंदन करते हुए कहा कि श्री अन्न हमारी सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा है। मोटे अनाज के उत्पादन में बालाघाट जिले की विशेष पहचान, और यहां कोदो का इतिहास 3000 वर्षों से भी पुराना है। उन्होंने कहा कि मिलेट फसलों के उत्पादन और मूल्य संवर्धन के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है।

श्री अन्न की खेती को मिल रहा प्रोत्साहन

डॉ. यादव ने कहा कि कोदो उत्पादक किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार प्रति क्विंटल एक हजार रूपए की अतिरिक्त सब्सिडी दे रही है। उन्होंने घोषणा की कि केंद्र सरकार इस वर्ष कोदो को 4290 रुपये समर्थन मूल्य पर खरीदेगी, जिससे किसानों को आर्थिक सहायता मिलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि श्री अन्न फसलों का रकबा बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। बालाघाट जिले में पहले 10,000 हेक्टेयर में श्री अन्न की खेती होती थी, जिसे अब बढ़ाकर 15,200 हेक्टेयर करने का लक्ष्य है।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने श्री अन्न उत्सव में बाजरे पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया और किसानों का उत्साहवर्धन किया।उन्होंने आजीविका मिशन के तहत 855 स्वयं सहायता समूहों को 27.28 करोड़ रुपए के चेक वितरित किए।

किसानों के लिए वित्तीय समर्थन और योजनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा 80 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि के तहत 25,000 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष दिए जा रहे हैं। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष 12,500 करोड़ रुपये की राशि सीधे पात्र किसानों के खातों में जमा की जा रही है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने जिले के विकास के लिए 101 करोड़ रुपये की लागत से सरेखा एवं गर्रा रेलवे ओवर-ब्रिज, 25 करोड़ 30 लाख रुपये की लागत से वैनगंगा नदी में पुल और 24 करोड़ रुपये की लागत से बालाघाट-जागपुर पुल का निर्माण कार्य की घोषणा की। उन्होंने कहा कि जिले में 32,000 से अधिक किसानों के 41 करोड़ रुपये के ब्याज की माफी की जाएगी।

डॉ. यादव ने कहा कि किसान अब सोलर एनर्जी के माध्यम से बिजली भी उत्पन्न करेंगे। सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रेरित किया जाएगा। इसके साथ ही बालाघाट जिले में जल संरचनाओं के संरक्षण के लिए भी महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं।

गौ-वंश संरक्षण के लिए सख्ती

मुख्यमंत्री ने कहा कि गौ-वंश के संरक्षण और संवर्धन के मामले में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पिछले दिनों प्रदेश में 7,500 गौ-वंश को मुक्त कराते हुए 1,000 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। अब चरनोई की भूमि को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए कदम उठाए जाएंगे और ग्राम पंचायतों में गौशाला निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements