संदिग्ध बीज पार्सल के संबंध में छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

13 अगस्त 2020, रायपुर। संदिग्ध बीज पार्सल के संबंध में छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा विदेशों से आ रहे संदिग्ध बीज पार्सल के संबंध में जारी दिशा-निर्देश के परिप्रेक्ष्य में छत्तीसगढ़ के कृषि विभाग ने अलर्ट जारी किया है। कृषि विभाग ने विभागीय अधिकारियों एवं राज्य के किसानों से किसी अज्ञात स्रोतों से प्राप्त होने वाले बीज के  संबंध में सतर्क रहने की सलाह दी है। राज्य के किसानों से अपील की गई है कि वे स्वयं के रखे हुए बीज अथवा राज्य की सहकारी सोसायटियों के माध्यम से प्राप्त होने वाले प्रमाणित बीज का ही उपयोग करें। अज्ञात स्रोतों से भ्रामक पैकेज के साथ अनचाहे/संदिग्ध बीज का उपयोग न करें।

ज्ञातव्य है कि भारत सरकार द्वारा यह अवगत कराया गया है कि विभिन्न देशों जैसे अमेरिका (यूएसए), कनाडा, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, जापान एवं कुछ यूरोपीय देशों में अवांछित स्रोतों से भ्रामक पैकिंग में अनचाहे/अवांछित अथवा संदिग्ध बीज पार्सल प्राप्त होने के खतरे के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई है। विगत कुछ माह से पूरी दुनिया में ऐसे संदिग्ध बीज के हजारों पार्सल मिले हैं। यूएसए के कृषि विभाग ने इसे बीज बिक्री के फर्जी आंकड़े दिखाने का घोटाला (ब्रशिंग स्कैम) और कृषि तस्करी बताया है।

यह भी अवगत कराया गया है कि उक्त अवांछित बीज पार्सल में विदेशी आक्रामक प्रजातियों के बीज हो सकते हैं अथवा उक्त अवांछित बीज पार्सल के माध्यम से विभिन्न रोगों अथवा रोगजनक कीटाणुओं को प्रवेश कराने का प्रयास किया जा सकता है, जो पर्यावरण, कृषि पारिस्थितिक तंत्र एवं राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा कर सकता है।

अपर संचालक कृषि ने राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम, प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य बीज प्रमाणिकरण संस्था रायपुर, निदेशक अनुसंधान सेवाएं एवं निदेशक विस्तार सेवाएं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर, संयुक्त संचालक कृषि एवं सभी जिले के उप संचालकों को इस मामले में सतर्कता बरतने तथा प्रदेश के किसानों एवं आम जनता को इस संबंध में जागरूक बनाने के लिए आवश्यक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए हैं।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 1 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।