राज्य कृषि समाचार (State News)

वॉइस चेंजर एप्लीकेशन के संबंध में पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

Share

27 मई 2024, इंदौर: वॉइस चेंजर एप्लीकेशन के संबंध में पुलिस ने जारी की एडवाइजरी – अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक,  राज्य  साइबर पुलिस मुख्यालय , मध्यप्रदेश , भोपाल द्वारा नागरिकों को सावधान करने के लिए  वॉइस चेंजर  एप्लीकेशन  के संबंध में एडवाइजरी की गई है।

 वर्तमान समय  में मोबाइल के लिए  विभिन्न  तरीके के  एप्लीकेशन  उपलब्ध हैं,  जिनमें  से कई  एप्लीकेशन ऐसे हैं जो कॉल करते समय आवाज  को  बदलने कì सुविधा देते हैं,  जिसे वॉइस चेंजर भी कहा जाता  है ऐसे एप्स  प्ले स्टोर  पर आसानी से  उपलब्ध हो जाते हैं । ऐसी एप्लीकेशन का उपयोग कर किसी अन्य व्यक्ति , महिला ,  बुजुर्ग तथा कम्प्यूटर (रोबोट) की आवाज  में  कॉल करके बात की जा सकती है।  कुछ  प्रकरण में ऐसा  देखने में आया  है कि अपराधी वॉइस चेंजिंग  एप्लीकेशन  का  दुरुपयोग करके खुद की आवाज को महिला की आवाज में बदलकर  छात्राओं  एवं महिलाओं को  कॉल करके किसी  बहाने से अज्ञात स्थान  पर बुलाकर बलात्कार  तथा  लूट जैसे अपराध को अंजाम दे रहे हैं।

 यदि कोई अंजान व्यक्ति आपको कॉल करके महिला, बुजुर्ग ,बच्चों आदि किसी आवाज में आपको किसी भी  प्रकार का  प्रलोभन   देकर  या डरा धमकाकर आपको किसी अज्ञात स्थान पर बुलाने का  प्रयास  करे, तो ऐसी किसी भी कॉल पर आप सतर्क हो जाएं। अपराधी ऐसे वॉइस चेंजिंग एप का इस्तेमाल करके आपको या आपके  परिजन को किसी  स्थान  पर बुलाकर अपराध  कारित  कर सकते  हैं , जैसे शारीरिक क्षति पहुँचना ,अभद्र  कार्य के लिए मजबूर करना, पैसे की डिमांड करना आदि। ऐसे में निम्न सावधानियां बरतना आवश्यक है –

1. किसी भी अनजान  नंबर  से आए  कॉल पर विश्वास न करें , चाहे वह किसी शासकीय संस्था के नाम या  शासकीय योजना का फायदा दिलवाने के नाम पर किए गए हों।

2  यदि  कोई  व्यक्ति  आपको या आपके  परिवारजन को  अनजान  जगह मिलने बुलाता है तो या तो जाने से  परहेज करें  या अपने साथ किसी समझदार व्यक्ति को लेकर जाएं।

3  ऐसे किसी व्यक्ति  जिन  पर आपको शक होता  है कि  वह आपको नुकसान  पहुंचा सकते हैं ,उनके बारे में अपने परिजनों एवं मित्रों को बता कर रखें।

 4  वॉइस  चेंजर   एप्लिकेशन से तैयार  की गई  आवाज कई बार बेहद  सुरीली  व  कम्यूटराइज़्ड  होती हैअतः  ऐसी  किसी  कॉल के आने पर ध्यान देवें कि  कहीं वह आवाज बनावटी तो नहीं है।

5 यदि कोई आपका परिचित बनकर कॉल करता है ,तो उक्त कॉल को काटकर जिस परिचित के नाम से कॉल की गई है उसको उनके निजी नंबर पर कॉल करके सुनिश्चित कर लें कि क्या उसी व्यक्ति के द्वारा आपको कॉल किया गया था।

6   यदि  आपके साथ भी कोई साइबर अपराध या इस तरह का अपराध  घटित होता है या आपको किसी  तरह  की  साइबर अपराध  की  जानकारी मिलती  है तो  उसकी शिकायत अपने नजदीकी  पुलिस थाने में या www.cybercrime.gov.in या  सायबर क्राइम हेल्प नंबर (टोल फ्री ) नंबर 1930 पर करें।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements