राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

संयुक्त किसान मोर्चा और संसद के बाहर धुएं के कनस्तर के साथपकड़ी गई प्रदर्शनकारी नीलम आजाद के बीच क्या है कनेक्शन?

Share

15 दिसम्बर 2023, नई दिल्ली: संयुक्त किसान मोर्चा और संसद के बाहर धुएं के कनस्तर के साथपकड़ी गई प्रदर्शनकारी नीलम आजाद के बीच क्या है कनेक्शन? – संयुक्त किसान मोर्चा ने संसद पर हमला करने और उसकी सुरक्षा में सेंध लगाने के आरोप में गिरफ्तार नीलम की रिहाई की मांग की है।

बुधवार को संसद की सुरक्षा में सेंधमारी की कोशिश करने के मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। इन आरोपियों में नीलम नाम की महिला भी शामिल है। इस खबर को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने नीलम की रिहाई की मांग की है।

दरअसल 13 दिसंबर (बुधवार) को  संसद भवन में सदन की कार्यवाही चल रही थी। इस बीच दो व्यक्ति पास का उपयोग करके लोकसभा आगंतुक दीर्घा में दाखिल हुए, फिर हॉल में कूद गए और डिब्बे से पीला धुआं फेंक दिया। दो अन्य व्यक्तियों ने भी संसद के बाहर इसी तरह के डिब्बे का इस्तेमाल किया और विभिन्न नारे लगाए। आगे की जांच से पता चला कि इस सुरक्षा उल्लंघन और संसद भवन पर हमले में कुल 6 लोग शामिल थे, जिस दिन देश ने 2001 के संसद हमले की 22वीं बरसी मनाई थी।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, संयुक्त किसान मोर्चा नीलम आज़ाद के समर्थन में सामने आया है, जो संसद के बाहर गिरफ्तार किए गए दो व्यक्तियों में से एक थीं। एसकेएम ने मांग की है कि नीलम को यह तर्क देते हुए रिहा किया जाना चाहिए कि वह किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़ी रही है।

एक किसान नेता ने कहा कि नीलम पहले भी किसान आंदोलन से जुड़ी रही हैं और वे सभी उनके साथ हैं। उनका बचाव करते हुए किसान नेता ने दावा किया कि नीलम ने बेरोजगारी के मुद्दों का सामना करने के बाद संसद पर हमले का कदम उठाया।

इसके अतिरिक्त, किसान नेता आज़ाद पालवा मांग की हैं कि नीलम को रिहा किया जाना चाहिए और कहा कि वह इस संबंध में कल संयुक्त किसान मोर्चा बुलाएंगे। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर नीलम को जल्द रिहा नहीं किया गया तो वे बड़ा कदम उठाएंगे।

इस साजिश में 6 लोग शामिल थे। जिनमें से 4 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका हैं। बाकी दो आरोपियों की तलाश जारी हैं। बताया जा रहा है. ये सभी आरोपी दिल्ली के बाहर से आए थे, इसमें से 5 आरोपी गुरुग्राम में एक जगह पर रुके थे। ये आरोपी गुरुग्राम में ललित झा नाम के शख्स के घर पर रूके थे।

घटना के बाद, नीलम के परिवार ने कहा कि वह परेशान थी क्योंकि वह बेरोजगार थी और उसने किसान विरोध प्रदर्शन में भाग लिया था। बाद में पता चला कि वह राजनीति में गहराई से शामिल रही हैं और पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने कई विरोध प्रदर्शनों में भाग लिया है। हमले के बाद सामने आए एक अदिनांकित वीडियो में वह कांग्रेस और इनेलो के लिए प्रचार करती नजर आ रही थीं |

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम)

Share
Advertisements