राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

जुलाई 2024 के लिए मौसम का पूर्वानुमान: बारिश और तापमान में बड़े बदलाव की संभावना

Share

02 जुलाई 2024, नई दिल्ली: जुलाई 2024 के लिए मौसम का पूर्वानुमान: बारिश और तापमान में बड़े बदलाव की संभावना – पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने जुलाई 2024 के लिए वर्षा और तापमान का मासिक पूर्वानुमान जारी किया है। रिपोर्ट के अनुसार, इस महीने भारत के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से अधिक वर्षा (एलपीए का 106 प्रतिशत से अधिक) होने की संभावना है।  

हालांकि, पूर्वोत्तर भारत के कई हिस्से, उत्तर-पश्चिम, पूर्व और दक्षिण-पूर्व प्रायद्वीपीय भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य से कम वर्षा होने की संभावना जताई गई है।

मंत्रालय ने कहा कि जुलाई 2024 के दौरान देश के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक रह सकता है। लेकिन उत्तर-पश्चिम के कुछ हिस्सों, मध्य भारत के आसपास के इलाकों और दक्षिण-पूर्वी प्रायद्वीपीय भारत के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है। वहीं अगर अधिकतम तापमान की बात करें तो उत्तर-पश्चिम भारत और दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के कई हिस्सों में तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है। मध्य भारत, पूर्व और उत्तर-पूर्व भारत और पश्चिमी तट के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रह सकता है।

वर्तमान में भूमध्यरेखीय प्रशांत महासागर पर एल नीनो-दक्षिणी दोलन (ईएनएसओ) तटस्थ स्थितियां देखी जा रही हैं। समुद्र की सतह का तापमान (एसएसटी) औसत से अधिक है और पूर्वी भूमध्यरेखीय प्रशांत महासागर में औसत से कम है। नवीनतम मानसून मिशन जलवायु पूर्वानुमान प्रणाली (एमएमसीएफएस) के अनुसार, मानसून के मौसम के दूसरे भाग के दौरान ला नीना की स्थितियां विकसित हो सकती हैं।

हिंद महासागर पर तटस्थ हिंद महासागर द्विध्रुव (आईओडी) की स्थितियां व्याप्त हैं और यह स्थिति मानसून के मौसम के दौरान जारी रहने की संभावना है।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements