किसानों को धोखाधड़ी से बचाने सरकार प्रतिबद्ध : श्री पटेल

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

नकली कृषि आदान विक्रेताओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही

13 अगस्त 2020, भोपाल। किसानों को धोखाधड़ी से बचाने सरकार प्रतिबद्ध : श्री पटेल – चालू खरीफ सीजन में नकली एवं अमानक खाद, बीज एवं कीटनाशक विक्रेताओं के खिलाफ अभियान चलाकर सख्त कार्यवाही की जा रही है। प्रदेश में उर्वरक की कमी न हो इसके लिए कृषि अधिकारियों को सतत निगरानी के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ किसी भी कीमत पर किसानों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। यह जानकारी प्रदेश के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कृषक जगत को एक विशेष मुलाकात में दी।

श्री पटेल ने बताया कि कोरोना संकट काल की विकट परिस्थितियों में किसान पसीना बहा रहा है ऐसे में यदि अमानक एवं नकली आदान मिलेगा तो उसकी मेहनत पर पानी फिर जाएगा, उत्पादन प्रभावित होगा जिससे आमदनी में कमी आएगी। इन्हीं परिस्थितियों से किसान को बचाने के लिए प्रदेश में नकली एवं अमानक आदान विक्रेताओं के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत अब तक 22 विक्रेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गई है। इसके साथ ही 50 लायसेंस निरस्त एवं 71 लायसेंस निलंबित किए गए हैं।

कृषि मंत्री ने बताया की खरीफ सीजन में उर्वरक की बढ़ती मांग के बीच नकली खाद और बीज बेचने वालों से किसानों को बचाने के लिए पूरे अमले को मैदान में उतार दिया गया है। खाद के अवैध भंडारण, परिवहन पर अंकुश लगाने के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है। कृषि अमले की सक्रियता से सकारात्मक नतीजे आ रहे हैं। किसानों को न खाद की उपलब्धता में दिक्कत आ रही है और न ही मंहगे दाम पर खाद खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

कृषि मंत्री ने बताया की गड़बड़ी पकड़ में आने पर कोई रियायत नहीं बरत रहे। खाद, बीज के अवैध भंडारण, परिवहन और मिलावट को लेकर 22 एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी हैं, एक मामले में एफआईआर दर्ज करने से पूर्व विवेचना की जा रही है। सख्त कार्रवाई से मुनाफाखोरों में हड़कंप है वहीं किसानों को राहत मिली है।

श्री कमल पटेल ने बताया कि प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि किसानों को यूरिया की कमी नहीं होने दी जायेगी। उन्हें उनकी आवश्यकतानुसार पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध कराया जायेगा।

श्री पटेल ने बताया कि प्रदेश को एक लाख 13 हजार मीट्रिक टन अतिरिक्त यूरिया प्राप्त हो गया है। प्रदेश सरकार द्वारा एक लाख 50 हजार मीट्रिक टन अतिरिक्त यूरिया की मांग भारत सरकार से की गई थी। भारत सरकार से जुलाई माह में 86 हजार मीट्रिक टन एवं अगस्त माह में 27 हजार मीट्रिक टन अतिरिक्त यूरिया का आवंटन प्राप्त हुआ है।

खाद समय पर और वाजिब कीमत पर किसानों को मिलती रहे इसके लिए कृषि विभाग का अमला स्टॉक लिमिट, निर्धारित दर से ज्यादा बेचने, मिलावटखोरों सहित अवैध रूप से खाद का विक्रय करने वालो के खिलाफ अभियान चलाए हुए है। कृषि मंत्री ने फिर दोहराया है कि किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे, ऐसे तत्वों के खिलाफ रासुका के तहत भी कार्रवाई की जाएगी।

किसान फसलों का बीमा 18 अगस्त तक करवा सकते हैं

कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया कि किसान अपनी फसलों का बीमा 18 अगस्त 2020 तक करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान फसलों का बीमा करवाकर लाभ ले सकते हैं। श्री पटेल ने कहा कि जो किसान 31 जुलाई तक फसल बीमा नहीं करवा पाये हैं, ऐसे किसानों के लिये फसल बीमा की तारीख बढ़ाकर 18 अगस्त कर दी गई है। उन्होंने किसानों से आव्हान किया कि समय रहते फसल बीमा करायें।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − seven =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।