राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

देश में जायद फसलों के रकबे में आई कमी

Share

13 मई 2023, नई दिल्ली: देश में जायद फसलों के रकबे में आई कमी – कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय , भारत सरकार द्वारा गत सप्ताह जारी ताजा आंकड़ों में बताया गया है कि 69.20 लाख हेक्टेयर में ग्रीष्म फसलें बोई गई हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष बुवाई में 2 प्रतिशत की गिरावट आई है।

ग्रीष्म दलहनी फसलों में पिछले वर्ष के इसी सप्ताह की तुलना में 6 प्रतिशत की  वृद्धि दर्ज की गई है। इस वर्ष दलहनी फसलो का कुल कवरेज 19.61  लाख हेक्टेयर क्षेत्र रहा वही वर्ष 2022 में कुल कवरेज 18.44 लाख हेक्टेयर क्षेत्र था। यह कवरेज मुख्य रूप से हरा चना (16.14 लाख हेक्टेयर), काला चना (3.24 लाख हेक्टेयर) और अन्य दालें (0.23 लाख हेक्टेयर) में हैं।

वहीं ग्रीष्मकालीन धान में 6 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है। धान का रकबा 27.89 लाख हेक्टेयर है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 29.80 लाख हेक्टेयर था।

श्री अन्न की फसल में इस बार 4 प्रतिशत की वृध्दि देखी गई हैं। इस वर्ष श्री अन्न की फसलों का कुल कवरेज 11.73 लाख हेक्टेयर क्षेत्र रहा वही  वर्ष 2022 में कुल कवरेज 11.30 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में था। यह कवरेज मुख्य रूप से ज्वार (0.25 लाख हेक्टेयर), रागी ( 0.14 लाख हेक्टेयर), बाजरा (4.69 लाख हेक्टेयर) और मक्का (6.65 लाख हेक्टेयर) में हैं।

वही तिलहनी फसलों को इस हफ्ते की रिपोर्ट के अनुसार देखा जाये तो इन फसलों में भी इस वर्ष पिछले वर्ष की तुलना में 8 प्रतिशत तक की गिरावट आयी हैं। इस वर्ष तिलहनी फसलों का कुल रकबा 9.96 लाख हेक्टेयर रहा वही वर्ष 2022 में कुल रकबा 10.85 लाख हेक्टेयर था।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements