देश की दूसरी किसान रेल आंध्र से दिल्ली के लिए रवाना

Share

किसान रेल से मजबूत होगी कृषि अर्थव्यवस्था- केंद्रीय मंत्री श्री तोमर

09 सितंबर 2020, नई दिल्ली। देश की दूसरी किसान रेल आंध्र से दिल्ली के लिए रवाना देश की दूसरी और दक्षिण भारत की पहली किसान रेल का शुभारंभ बुधवार को केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री वाय.एस. जगनमोहन रेड्डी ने किया । रेल राज्य मंत्री श्री सुरेश सी. अंगड़ी ने अध्यक्षता की। दक्षिण मध्य रेलवे के गुंतकल मंडल की  यह विशेष गाड़ी के रूप में अनंतपुर (आंध्र प्रदेश) से आदर्श नगर (दिल्ली) के लिए रवाना हुई।

महत्वपूर्ण खबर : 2025 तक सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतें आधी हो सकती हैं

इस अवसर पर श्री तोमर ने कहा कि किसान रेल से कृषि की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी । बजट में किसान रेल व किसान उड़ान की सुविधाओं की घोषणा की गई थी, ताकि फल-सब्जियां कम समय में एक से दूसरे स्थान पर भेजे जा सकें। गत 7 अगस्त को देवलाली से दानापुर तक पहली किसान रेल प्रारंभ की गई, । अब दूसरी किसान रेल चलने से आंध्रप्रदेश से दिल्ली तक रास्ते के सभी राज्यों के किसानों को भी इसका लाभ होगा। किसान उड़ान भी शुरू होगी , जिससे बागवानी फसलों के परिवहन में बड़ी सुविधा मिलेगी।

मुख्यमंत्री श्री रेड्डी ने कहा कि बागवानी में आंध्रप्रदेश का महत्वपूर्ण स्थान है। टमाटर, पपीता, कोको व चिली के उत्पादन में देश में आंध्रप्रदेश का पहला स्थान है। कोविड संकट के चलते ये उपज दिल्ली तक पहुंचाना मुश्किल हो रहा था, इसलिए प्रधानमंत्री जी से निवेदन किया, जिन्होंने किसानों की सुविधा के लिए इसकी व्यवस्था कराई। आंध्रप्रदेश, दक्षिण भारत का बड़ा फल उत्पादक राज्य है। हमने किसानों को प्रोत्साहन व मदद के लिए कई कार्य किए है। लाकडाउन में 11 विशेष रेलगाड़ी अनंतपुर से मुंबई चलाई गईं ताकि यहां के फल देश के विभिन्न स्थानों तक पहुंच सकें।

कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री परषोत्तम रूपाला व श्री कैलाश चौधरी, आंध्र प्रदेश के मंत्री श्री बी. सत्यनारायण, श्री एम. शंकरनारायण व श्री के. कन्नाबाबू, अनंतपुर के सांसद श्री टी. रंगय्या, क्षेत्रीय विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि, कृषि मंत्रालय के सचिव श्री संजय अग्रवाल, साउथ सेंट्रल रेलवे के महाप्रबंधक श्री गजानन मलैया भी उपस्थित थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.