कम्पनी समाचार (Industry News)

निमाड़ क्षेत्र में रासी सीड्स के कपास फसल प्रदर्शन किसानों ने देखे

Share

26 सितम्बर 2022, इंदौर निमाड़ क्षेत्र में रासी सीड्स के कपास फसल प्रदर्शन किसानों ने देखे –कपास बीज की देश की अग्रणी कंपनी रासी सीड्स प्रा. लि. ने गत दिनों पश्चिम निमाड़ क्षेत्र में कपास फसल प्रदर्शन के कार्यक्रम आयोजित किए, जिसमें बड़ी संख्या में किसान सम्मिलित हुए। गुणवत्तायुक्त बीज और बेहतर उत्पादन के कारण रासी के कपास बीज आज देश के किसानों की पहली पसंद बने हुए हैं।

रासी टीम ने बताया कि कम्पनी द्वारा कपास बीज आरसीएच 659, रासी मैजिक एवं रासी प्राईम के मेगा फसल प्रदर्शन कार्यक्रम खरगोन, महेश्वर, अंजड, राजपुर क्षेत्र में आयोजित किए गए। जिसमें आसपास गांवों के किसान शामिल हुए। किसानों द्वारा आरसीएच 659, रासी मैजिक एवं रासी प्राईम किस्मों को काफी पसंद किया गया। रासी सीड्स ने रासी प्राइम को निमाड़ में कई जगह डेमो के रूप में किसानों के खेतों पर लगाया है जहाँ बहुत अच्छा प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। प्रदर्शन के दौरान किसानों ने देखा कि रासी मैजिक में बड़े एवं ज्यादा डेंडू, चुनाई आसान, हरा मच्छर के प्रति सहनशील होने से गुणवत्तायुक्त कपास मिलता है। इसके बड़े, वजनदार एवं ज्यादा डेंडू, रस चूषक कीटों से सुरक्षा, दवाई खर्च कम, चुनाई में आसान और अंत तक हरा-भरा रहता है। जबकि वर्षों से किसानों की पहली पसंद बनी हुई किस्म आरसीएच 659 में बड़े एवं वजनदार डेंडू, आसान चुनाई, चमकदार एवं वजनदार कपास से अधिक मंडी भाव मिलता है। कपास की फसल के बेहतर उत्पादन के लिए खाद एवं कीट प्रबंधन, गुलाबी इल्ली प्रबंधन आदि पर विस्तृत चर्चा हुई। रासी टीम द्वारा निमाड़ में सभी कपास क्षेत्रों में कार्यक्रम आयोजित कर किसानों के साथ कपास प्रबंधन पर चर्चा की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि रासी सीड्स बीज की हर किस्म को अनुसंधान करने के बाद सभी कपास क्षेत्रों में वहाँ की जलवायु में लगाकर देखती है। उसके बाद ही किस्म को बाजार में बेचने के लिए भेजा जाता है। कम्पनी द्वारा मिट्टी के हिसाब से किस्म चयन करने की सलाह दी जाती है। जैसे कि भारी मिट्टी के लिए आरसीएच 659, रासी मैजिक , रासी प्राईम, रासी मेगना एवं हल्की मिट्टी के लिए रासी नियो, आरसीएच 779 उपयुक्त किस्म है। रासी सीड्स वर्ष भर किसानों के बीच रहकर उनको सेवाएं प्रदान करती है और समय-समय पर किसानों को फसल प्रबंधन के बारे ने सलाह देती है। इसके अलावा रासी सीड्स हर सोमवार 19 हजार से अधिक किसानों को कपास में अच्छा उत्पादन मिले इसलिए व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से कपास फसल प्रबंधन की जानकारी भी देती है।

कपास की बिजाई के लिए समर्पित रासी सीड्स

महत्वपूर्ण खबर: विश्वकर्मा को मिला प्रदेश गौरव रत्न सम्मान

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *