किसानों के  दुख – सुख का साथी हूँ: श्री चौहान

Share

पीएम फसल बीमा योजना की दावा राशि बनी किसानों के लिये संजीवनी

cm chouhan1

16 फरवरी 2022, भोपाल ।  किसानों के  दुख – सुख का साथी हूँ: श्री चौहान –आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में कृषि क्षेत्र की महत्वपूर्ण भागीदारी है। कृषि उत्पादन को बढ़ाना, उत्पादन की लागत को कम करना, कृषि उपज के उचित दाम दिलाना और प्राकृतिक आपदा या अन्य स्थिति में उपज को हुए नुकसान में किसान को पर्याप्त क्षतिपूर्ति देना, राज्य सरकार के प्रयासों में शामिल हैं। इन्हीं प्रयासों के चलते हाल ही में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में देश में फसल क्षति की सबसे बड़ी सहायता राशि का वितरण कर राष्ट्रीय स्तर पर एक नया रिकार्ड बनाया है। किसानों के 49 लाख फसल क्षति के दावों में 7618 करोड़ रूपये की सहायता राशि उनके खातों में सिंगल क्लिक से डाली गई। यह फसल बीमा राशि प्रदेश के प्रभावित किसानों के लिये संजीवनी बनी है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के सभी किसान भाइयों-बहनों के हर सुख-दुख में मैं हमेशा साथ रहा हूँ और साथ रहूँगा। प्राकृतिक आपदा हो या बाढ़, बारिश, ओलावृष्टि, फसलों पर आए संकट में किसानों को कभी भी आर्थिक नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। बीते दिनों हुई ओलावृष्टि और बारिश से फसलों का जो नुकसान हुआ है, उसके लिये भी राहत राशि किसानों के खाते में डाली जाएगी।

संभागवार दावे और वितरित राशि

भोपाल संभाग के 5 जिलों में 10 लाख 62 हजार 574 दावों में 2 हजार 58 करोड़ 31 लाख रुपए का भुगतान किया गया। इसमें भोपाल जिले में 80 हजार 167 बीमा दावों में 152 करोड़ 02 लाख रुपए, सीहोर में 2 लाख 82 हजार 520 दावों में 761 करोड़ 23 लाख रूपए, रायसेन में एक लाख 48 हजार 072 दावों में 269 करोड़ 80 लाख रुपए, विदिशा में 2 लाख 56 हजार 273 दावों में 493 करोड़ 99 लाख रुपए और राजगढ़ में 2 लाख 95 हजार 542 दावों में 381 करोड़ 27 लाख रुपए की फसल बीमा राशि वितरित की गई ।

ग्वालियर संभाग के ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी, गुना और अशोकनगर जिले में फसल बीमा के 2 लाख 37 हजार 499 दावों में 218 करोड़ 41 लाख रुपए की राशि वितरित की गई। इसमें ग्वालियर में 1645 दावों में एक करोड़ 19 लाख रुपए, दतिया में 32 हजार 605 दावों में 20 करोड़ 80 लाख रुपए, शिवपुरी में 57 हजार 881 दावों में 40 करोड़ 56 लाख रुपए, गुना में 80 हजार 822 दावों में 87 करोड 73 लाख रुपए और अशोकनगर जिले के 64 हजार 546 फसल बीमा दावों में 68 करोड़ 13 लाख रुपए की राशि वितरित की गई।

इंदौर संभाग के 8 जिलों में 7 लाख 67 हजार 582 बीमा दावों में 922 करोड़ 84 लाख रुपये की राशि किसानों के खाते में अंतरित की गई। इसमें इंदौर के एक लाख 86 हजार 812 बीमा दावों में 380 करोड़ 54 लाख रुपये, झाबुआ में 45 हजार 666 बीमा दावों में 20 करोड़ 49 लाख रुपये, बड़वानी में 43 हजार 726 बीमा दावों में 22 करोड़ 57 लाख रुपये, खरगोन में एक लाख 5 हजार 266 बीमा दावों में 79 करोड़ 79 लाख रुपये, खण्डवा में एक लाख 43 हजार 456 बीमा दावों में 152 करोड़ 9 लाख रुपये, धार में 2 लाख एक हजार 407 बीमा दावों में 232 करोड़ 57 लाख रुपये, बुरहानपुर में 5 हजार 470 बीमा दावों में 5 करोड़ 89 लाख रुपये और अलीराजपुर के 35 हजार 779 बीमा दावों में 8 करोड़ 90 लाख रुपये की राशि वितरित की गई।

जबलपुर संभाग के 8 जिलों में एक लाख 87 हजार 342 बीमा दावों में 141 करोड़ 91 लाख रुपये की राशि किसानों के खाते में अंतरित की गई। इसमें जबलपुर के 11 हजार 86 बीमा दावों में 8 करोड़ 87 लाख रुपये, कटनी में 7 हजार 202 बीमा दावों में 7 करोड़ 34 लाख रुपये, नरसिंहपुर में 34 हजार 895 बीमा दावों में 22 करोड़ 37 लाख रुपये, सिवनी में 27 हजार 809 बीमा दावों में 27 करोड़ 33 लाख रुपये, बालाघाट में 26 हजार 531 बीमा दावों में 22 करोड़ 63 लाख रुपये, छिन्दवाड़ा में 66 हजार 156 बीमा दावों में 44 करोड़ 87 लाख रुपये, डिण्डोरी में 6 हजार 457 बीमा दावों में 3 करोड़ 45 लाख रुपये और मण्डला के 7 हजार 206 बीमा दावों में 5 करोड़ 5 लाख रुपये की राशि वितरित की गई।

रीवा संभाग के 4 जिलों में 49 हजार 508 दावों में 45 करोड़ 92 लाख रुपए का भुगतान किया गया। इसमें रीवा जिले में 14 हजार 540 बीमा दावों में 16 करोड़ 67 लाख रुपए, सतना में 29 हजार 568 दावों में 22 करोड़ 43 लाख रूपए, सिंगरौली में एक हजार 297 दावों में एक करोड़ 42 लाख रुपए और सीधी में 4 हजार 103 दावों में 5 करोड़ 40 लाख रुपए की फसल बीमा राशि वितरित की गई।

सागर संभाग के 6 जिलों में 3 लाख 729 बीमा दावों में 382 करोड़ 3 लाख रुपये की राशि किसानों के खाते में अंतरित की गई। इसमें सागर के एक लाख 73 हजार 682 बीमा दावों में 265 करोड़ 42 लाख रुपये, निवाड़ी में 8 हजार 62 बीमा दावों में 3 करोड़ 55 लाख रुपये, पन्ना में 11 हजार 237 बीमा दावों में 5 करोड़ 27 लाख रुपये, टीकमगढ़ में 27 हजार 140 बीमा दावों में 14 करोड़ 12 लाख रुपये, छतरपुर में 26 हजार 886 बीमा दावों में 18 करोड़ 62 लाख रुपये और दमोह में 53 हजार 722 बीमा दावों में 75 करोड़ 5 लाख रुपये की राशि वितरित की गई।

उज्जैन संभाग के 7 जिलों में 19 लाख 22 हजार 528 बीमा दावों में 2867 करोड़ 17 लाख रुपये की राशि किसानों के खाते में अंतरित की गई। इसमें उज्जैन के 5 लाख 93 हजार 831 बीमा दावों में 689 करोड़ 46 लाख रुपये, देवास में 3 लाख 15 हजार 423 बीमा दावों में 666 करोड़ 69 लाख रुपये, नीमच में एक लाख 37 हजार 650 बीमा दावों में 156 करोड़ 18 लाख रुपये, आगर-मालवा में एक लाख 9 हजार 544 बीमा दावों में 182 करोड़ 56 लाख रुपये, रतलाम में 2 लाख 48 हजार 681 बीमा दावों में 318 करोड़ 20 लाख रुपये, मंदसौर में 2 लाख 90 हजार 867 बीमा दावों में 368 करोड़ 95 लाख रुपये और शाजापुर में 2 लाख 26 हजार 532 बीमा दावों में 485 करोड़ 13 लाख रुपये की राशि वितरित की गई।

नर्मदापुरम् संभाग के 3 जिलों में 4 लाख 3 हजार 944 दावों में 925 करोड़ 21 लाख रुपए का भुगतान किया गया। इसमें नर्मदापुरम् (होशंगाबाद) जिले में एक लाख 49 हजार 614 बीमा दावों में 273 करोड़ 20 लाख रुपए, हरदा में एक लाख 25 हजार 856 दावों में 345 करोड़ 79 लाख रूपए और बैतूल में एक लाख 28 हजार 474 दावों में 306 करोड़ 79 लाख रुपए की फसल बीमा राशि वितरित की गई।

चम्बल संभाग के 3 जिलों में 20 हजार 357 दावों में 25 करोड़ 37 लाख रुपए का भुगतान किया गया। इसमें श्योपुर जिले में 14 हजार 526 बीमा दावों में 21 करोड़ 76 लाख रुपए, मुरैना में 4 हजार 346 दावों में 2 करोड़ 44 लाख रूपए और भिण्ड में एक हजार 485 दावों में एक करोड़ 17 लाख रुपए की फसल बीमा राशि वितरित की गई।

शहडोल संभाग के 3 जिलों में 32 हजार 961 दावों में 30 करोड़ 93 लाख रुपए का भुगतान किया गया। इसमें अनूपपुर जिले में 7 हजार 236 बीमा दावों में 7 करोड़ 78 लाख रुपए, उमरिया में 9 हजार 941 दावों में 8 करोड़ 26 लाख रूपए और शहडोल में 15 हजार 784 दावों में 14 करोड़ 89 लाख रुपए की फसल बीमा राशि अंतरित की गई।

महत्वपूर्ण खबर: किसान परिवारों के युवा देंगे गांव में रोजगार

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.