Farming Solution (समस्या – समाधान)

सरसों में कीट समस्या के निवारण के लिये उचित उपाय बतायें। ताकि हानि से रोका जा सके।

Share
चन्द्रकांत पटेल

04 जनवरी 2024, भोपाल: सरसों में कीट समस्या के निवारण के लिये उचित उपाय बतायें। ताकि हानि से रोका जा सके – सरसों की फसल में इस वक्त माहो के अलावा कुछ और कीट आ सकते हैं। उनको नियंत्रित करने के लिये उपाय तत्काल करें अन्यथा उत्पादन प्रभावित हो सकता है।

चितकबरा कीट (पेंडीबग) के अलावा आरामक्खी बहुतायत से दिखती है और क्षति पहुंचाती है। एक छिड़काव 200 मि.ली. मैलाथियान 50 ई.सी.प्रति एकड़ को 200 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें आवश्यकता देखकर 15 दिनों के अंतर से दूसरा छिड़काव भी करें ।

बालों वाली सूंडी के प्रकोप को रोकने के लिये 500 मि.ली., एकालाक्स  25 ई.सी अथवा 200 मि.ली. नुवान 76 ई.सी. को 200 लीटर पानी में प्रति एकड़ के हिसाब से दो छिड़काव 15 दिनों के अंतर से करें।

तापमान बढ़ने पर (फरवरी में) फसल पर भभूतिया रोग भी आ सकता है। बचाव हेतु 2 ग्राम सल्फेक्स/लीटर पानी में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतर से दो छिड़काव करें।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम)

Share
Advertisements