गेहूं की अधिक से अधिक उपज के लिये आधुनिक तरीका बतलायें

Share
  • कमलेश शर्मा

29 नवम्बर 2022, भोपाल । गेहूं की अधिक से अधिक उपज के लिये आधुनिक तरीका बतलायें  

समाधान – आपका प्रश्न सामयिक है आपने गेहूं की अधिक उपज के नुस्खे जानना चाहते हैं तो लीजिए जानिये इन नुस्खों को और अपनाये भी।

  • गेहूं हो या कोई अन्य जिन्स विकसित जातियों के उपयोग से उत्पादन की प्रथम सीढ़ी आसान हो जाती है। उन्नत किस्में जैसे एचआई 1605, जेडब्ल्यू 3020, 3173, 3211, एचआई 8823, जेडब्ल्यू 3269, एमपी 3288, डीबीडब्ल्यू 119, एचआई 1655 (चिन्हित)    ही लगायें.
  • बीज का उपचार थाईरम अथवा वीटावेक्स से अवश्य करें ताकि अच्छा अंकुरण प्राप्त हो सके।
  • भूमि की तैयारी बहुत अच्छी तरह से की जानी चाहिए। बीज अधिक गहराई पर ना बोया जाये तथा 100 किलो/हे. से अधिक ना डाला जाये।
  • सिफारिश के अनुरूप उर्वरक डालें तथा संतुलित उर्वरक उपयोग करें साथ ही उर्वरक की स्थापना बीज के नीचे की जाये, व खाद, बीज का मिश्रण कदापि न करें।
  • क्रांतिक अवस्था पर सिंचाई तथा वाडर स्ट्रिप का उपयोग हो ताकि जल एवं समय दोनों की बचत हो सके।
  • मंडुसी खरपतवार  (Phalaris minor)  से उपज में 25-30 प्रतिशत की कमी आ सकती है। मंडुसी के लिए क्लोडिनाफॉप प्रोपरगिल 9% + मेट्रिब्यूजिऩ 20% WP (w/w) (2/2) (Clodinafop propargyl 9% + Metribuzin 20% WP (2/2) या सल्फोसल्फ्यूरॉन 75% WG (Sulfosulfuron 75% WG  का प्रयोग करें।

महत्वपूर्ण खबर: एमपी फार्मगेट एप से किसानों को उपज बेचना हुआ आसान

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *