कपास की पत्तियों पर धब्बे के रोग लगते हैं क्या करें ?

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

सुधीर गर्ग, खरगौन
समाधान- कपास के पत्तों पर मुख्य रूप में चार प्रकार के धब्बा रोग फफूंदी के द्वारा लगते हैं जिनसे बहुत हानि भी होती है कृपया इन्हें पहचानें और उपचार करें।

  • कपास का अंगमारी धब्बा रोग के लक्षण पत्तियों पर भूरे रंग के छोटे-छोटे गोल धब्बे बनते है जो बढ़कर बड़े होकर हानि पहुंचाते है। पौधों पर लक्षण देखते ही कोई भी ताम्रयुक्त फफूंदनाशी 2 ग्राम/लीटर पानी में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतर से दो छिड़काव करें।
  • माईशोथिसियम धब्बा के लक्षण पत्तियों पर गोल भूरे धब्बे बनते हैं बड़े होने पर बीच का हिस्सा गिर जाता है। इसके नियंत्रण के लिये भी उपरोक्त दवा कारगर होगी।
  • हेलमिथोस्पोरियम धब्बे गोल अनियमित होते हैं मध्य का भाग मटमैला होता है रोकथाम के लिये कैराथियान 10 मि.ली./10 लीटर पानी में घोल बनाकर अथवा वीटावैक्स इसी मात्रा में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतर से दो छिड़काव करें।
  • सरकोस्पोरा धब्बा सफेद रंग के गोल
  • गोल बनते हैं उपचार हेतु ताम्रयुक्त फफूंदनाशी 2 ग्राम/लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें।
व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 4 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।