मिर्च की तुड़ाई के समय क्या-क्या सावधानियां आवश्यक है कृपया बतायें

Share

समाधान- मिर्च एक नगदी फसल है मिर्च हो या अन्य सब्जी फसल जिनका फलन लम्बे समय तक चलता है की मिर्च की तुड़ाई में यदि विशेष सावधानियां नहीं बरती गई तो पौधों को हानि होती है। मजदूरों को ऐसी हिदायत देना जरूरी होगा ताकि तुड़ाई ढंग से करें ताकि पौधों को कम से कम हानि पहुंचें।
– हरी मिर्च तोड़ते समय यह सावधानी रखें कि फूलों और अविकसित फलों को हानि नहीं पहुंचे।
– हरी मिर्च की तुड़ाई लगभग 6 से 8 बार हर सप्ताह की जाना चाहिये।
– सामान्यत: पके हुए फलों को थोड़े-थोड़े समय के अंतराल हाथ से तोड़ कर 3-4 तुड़ाई की जा सकती है।
– ग्रीष्म और शरदऋतु की फसल को पकने पर तोड़ते हैं। तथा सुखाकर बेचते हैं।
– अचार वाली मिर्च को हरी अवस्था में तोडं
– सुखाने के लिये पक्के फर्श पर सुखाये तथा पतली परते रखें तथा परतों को पलटते रहें।

गजानन माली, बैतूल

Share
Advertisements

3 thoughts on “मिर्च की तुड़ाई के समय क्या-क्या सावधानियां आवश्यक है कृपया बतायें

  • We stumbled right here different page and thought I may at the same time check things out.

    I like a few things i see so now i am just following you.

    Look forward to determining about your internet page again.

    Reply
  • Hurrah, that’s the things i was seeking for, exactly what a data!
    existing here at this website, thanks admin with this site.

    Reply
  • Thanks for another informative site. Where else may I
    am getting that type of information written in such an ideal approach?
    I’ve a project that I’m simply now operating on, and I have
    been at the glance out for such info.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.