कामदार ने किया प्रेरणादायी काम

Share

28 मार्च 2022, इंदौर ।  कामदार ने किया प्रेरणादायी काम – कृषि विभाग द्वारा प्रायः किसानों से अपील की जाती  है, कि वे नरवाई जलाए नहीं, बल्कि  वे नरवाई का उपयोग खाद और भूसा बनाने में करें, क्योंकि नरवाई जलाना पर्यावरण एवं स्वास्थ्य दोनों के लिये हानिकारक होता है। इसी बात को ध्यान में रखकर धार जिले के ग्राम बिजूर के  उन्नत किसान श्री दिनेश कामदार ने 5 बीघा में बोई गई गेहूं की फसल को काटने के बाद पहले रोटावेटर से  बचे अवशेषों को समतल किया और फिर उसके बाद प्लाऊ चलाकर इन अवशेषों को ज़मीन में मिला दिया ,जो अगली खरीफ फसल के लिए खाद का काम करेगा। श्री कामदार का कहना है कि फसल अवशेष जलाने से भूमि की उर्वरा शक्ति कम हो जाती है और उत्पादन कम मिलता है। वे  हर वर्ष नरवाई को ज़मीन में मिलाने के बाद खाद के रूप में इस्तेमाल करते हैं । इसमें किसी डिकम्पोजर का प्रयोग नहीं किया जाता है। श्री कामदार द्वारा पर्यावरण रक्षा के लिए किए गए इस काम से अन्य किसानों को भी प्रेरणा लेनी चाहिए।

महत्वपूर्ण खबर: ढेरियां बांधने वाली स्वचालित गेहूं कटाई मशीन

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.