Horticulture (उद्यानिकी)

News and Information related to horticulture crops in India.

Fruit crops (फल की खेती) – Angoor, Aam, sab, kela, Santara, Anar, amrood, jamun, tarbooz, papita, ananas ki kheti ki jankari.

Vegetable crops (सब्जियों की फसलें) – Pyaz, tamatar, baingan, lauki, gilki, kaddu, bhindi, palak, methi, gobhi.

Horticulture (उद्यानिकी)

कृषि संविदा कर्मियों ने काली पट्टी बांध कर किया काम

खण्डवा। शासन के संविदा विरोधी नीति बयान को लेकर कृषि संविदा अधिकारी कर्मचारियों ने विगत दिनों सांकेतिक रूप से धरना देकर काली पट्टी बांध कर काम किया।कृषि संविदा अधिकारी, कर्मचारी संघ भोपाल के समर्थन में विगत दिनों खण्डवा के संविदाकर्मियों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

यूरिया से पौधों को नत्रजन उपलब्धता कैसे?

यूरिया यद्यपि कार्बनिक पदार्थ है, किन्तु इसकी गणना अकार्बनिक खादों में की जाती है। इसका कारण यह है कि यह अकार्बनिक साधनों से प्राप्त होता है। यूरिया के विशिष्ट गुण यूरिया सफेद लम्बे दानों और गोलियों के रूप में तैयार

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

बागवानी में प्लास्टिक मल्चिंग का प्रयोग

प्लास्टिक मल्चिंग (पलवार) क्या है: प्लास्टिक मल्चिंग पौधों के चारों तरफ की भूमि को प्लास्टिक फिल्म से व्यवस्थित रुप से ढकने की क्रिया है। वर्तमान में प्रयोग में लाए जाने वाले प्लास्टिक फिल्म विभिन्न रंगों एवं मोटाई में उपलब्ध है।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
Horticulture (उद्यानिकी)

फसलों का कचरा बढ़ाए मिट्टी का जीवन

हमारे देश में फसल के अवशेषों का उचित प्रबन्धन करने पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है। फसलों से प्राप्त अवशेषों का उपयोग मिट्टी में जीवांश पदार्थ की मात्रा अथवा खेत में पोषक तत्वों की मात्रा को बढ़ाने के लिए

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

नवजात बछड़ों के लिये खीस (कोलोस्ट्रम) का महत्व

डेयरी उद्योग की सफलता उचित बछड़ा व बछड़ी प्रबंधन पर निर्भर करती है। युवा वंश का उचित प्रबंधन मृत्युदर को कम कर सकता है। इसमें खीस का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। खीस क्या है- खीस एक गाढ़ा, पीला और मैमेरी

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

किसानों की जीवन रेखा है जैविक खेती

खरगोन। जैविक खेती मोठापुरा के किसानों की जीवन रेखा है। रसायन छोड़ जैविक खेती अपनाने से जहां कृषि उत्पादन में आशातीत वृद्धि हुई, वहीं आर्थिक सम्पन्नता आने से किसान खुशहाल बने। खरगोन से 25 किमी दूर कृषि बाहुल्य मोठापुरा में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
Horticulture (उद्यानिकी)

हरी खाद से मिट्टी की सेहत सुधारी

जबलपुर। इफको जबलपुर कार्यालय ने मंडला, बालाघाट, सागर, सिवनी एवं नरसिंहपुर के खेतों की मिट्टी का खरीफ पर्व परीक्षण करवाया। मृदा परीक्षण से यह ज्ञात हुआ कि इन जिलों के खेतों की मिट्टियों में जीवांश की कमी है। जीवांश को

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

प्रमुख फसलों के विषाणु रोग – नियंत्रण

फसलों में विषाणु रोगों के प्रकोप से काफी नुकसान होता है। विषाणु रोगों का महत्व इसलिये भी अधिक है क्योंकि इनके रोगकारक विषाणु का दायरा विस्तृत होता है तथा कई फसलों पर रोग उत्पन्न करते है। साथ ही इनका प्रसारण

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

बीज किस्म ही दोषी क्यों ?

कपास उत्पादन एवं किस्म बीटी कपास से कपास उत्पादन में क्रांति आई है। कपास के कीट नियंत्रण मेें सरकार किसान, कीटनाशी कम्पनियां वर्ष 2001-02 या इससे पूर्व ‘किम् कत्र्तव्य विमूढ की स्थिति में आने पर भारत में खरीफ 2002 में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Horticulture (उद्यानिकी)

सब्जी उत्पादन में समन्वित कीट प्रबंधन

एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन के तरीकों की सफलता मुख्यतया हानिकारक कीट एवं मित्र कीटों की निगरानी के आधार पर कीट प्रबंधन के विभिन्न घटकों के एकीकरण कर सही निर्णय को लागू करने के ऊपर निर्भर है। फसल चक्रअपनाकर कीट नियंत्रण- किसी

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें