समस्या – समाधान (Farming Solution)

समस्या – समाधान (Farming Solution) में विभिन्न फसलों के लिए किसानों की समस्याओं के जवाब, कृषि संबंधी समाधान, पौधों की सुरक्षा, बीज का चयन, बुआई और खेती कैसे करें शामिल हैं। समस्या – समाधान (Farming Solution) में बीज उपचार, खरपतवार नियंतरण, रोगोन और संक्रमण से सुरक्षा आदि भी शामिल हैं। इसमें कीट और रोग संलग्न, सिंचाई समस्या, मौसम संबंधी समस्याएं, मिट्टी जनित रोग संबंधी समस्याएं, बीज चयन, उर्वरक खुराक सुधार से संबंधित समस्याएं भी शामिल हैं। इसमें गेहूं, सोयाबीन, चना, धान, बासमती जैसी फसलें और आम, सेब, पपीता, अमरूद, बिंदी, भिंडी, टमाटर, प्याज, फूलगोभी, मटर, ड्रैगन फ्रूट, तोरी आदि फल और सब्जियां (बागवानी फसलें) शामिल हैं। इसमें कीटों और बीमारियों के लिए कृषि रसायनों की सही खुराक और उर्वरक अनुप्रयोग के लिए सही खुराक भी शामिल है।

समस्या – समाधान (Farming Solution)

हरी फलियों के लिये उगाई जाने वाली मटर की उपयुक्त किस्में कौन सी हैं

रामखिलावन 21 सितम्बर 2022, भोपाल । हरी फलियों के लिये उगाई जाने वाली मटर की उपयुक्त किस्में कौन सी हैं – समाधान – मटर की हरी फलियों के लिये शीघ्र, मध्यम व देर से पकने वाली किस्में उपलब्ध हैं। शीघ्र

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

सोयाबीन में कीटनाशक का प्रयोग कम कैसे करें

2 सितम्बर 2022, भोपाल । सोयाबीन में कीटनाशक का प्रयोग कम कैसे करें – समाधान- सोयाबीन के कीट विशेष गंध की ओर आकर्षित होते हैं। मालवा-निमाड़ में सुआ पालक की भाजी रूचि से खाई जाती है। यही सुआ में ऐसी गंध

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

सोयाबीन में बिहार हेयरी कैटरपिलर का नियंत्रण

2 सितम्बर 2022, भोपाल । सोयाबीन में बिहार हेयरी कैटरपिलर का नियंत्रण – समाधान- बिहार हेयरी कैटरपिलर का प्रकोप प्रारंभ होने पर किसानों को सलाह है कि प्रारम्भिक अवस्था में झुण्ड में रहने वाली इन इल्लियों को पौधे सहित खेत से

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
समस्या – समाधान (Farming Solution)

सोयाबीन में तना मक्खी, चक्र भृंग तथा पत्ती खाने वाली इल्लियों के एक साथ नियंत्रण

2 सितम्बर 2022, भोपाल । सोयाबीन में तना मक्खी, चक्र भृंग तथा पत्ती खाने वाली इल्लियों के एक साथ नियंत्रण – समाधान- सोयाबीन की फसल में तना मक्खी, चक्र भृंग तथा पत्ती खाने वाली इल्लियों के एक साथ नियंत्रण हेतु पूर्व

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

सोयाबीन में चक्र भृंग का नियंत्रण

1 सितम्बर 2022, भोपाल । सोयाबीन में चक्र भृंग का नियंत्रण – समाधान- चक्र भृंग के नियंत्रण हेतु प्रारंभिक अवस्था में ही टेट्रानिलिप्रोल 18.18 एससी (250-300 मिली/हे.) या थायक्लोप्रिड 21.7 एससी (750 मिली/हे.) या प्रोफेनोफॉस 50 ईसी (.1 ली/हे.) या इमामेक्टिन

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

सोयाबीन में चने की इल्ली द्वारा दाने खाने की समस्या

1 सितम्बर 2022, भोपाल । सोयाबीन में चने की इल्ली द्वारा दाने खाने की समस्या – समाधान– सोयाबीन की फसल दाने भरने की अवस्था में है, चने की इल्ली द्वारा दाने खाने की सम्भावना को देखते हुए भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान,

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
समस्या – समाधान (Farming Solution)

सोयाबीन में फलियां कट-कट कर गिरने की स्थिति

1 सितम्बर 2022, भोपाल । सोयाबीन में फलियां कट-कट कर गिरने की स्थिति – समाधान– कुछ क्षेत्रों में सोयाबीन की फलियां कट-कट कर गिरने की स्थिति देखी गई है। यह समस्या शीघ्र पकने वाली किस्मों में ही अधिकतर देखी जाती है,

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

इस क्षेत्र में हर वर्ष कामलिया कीट का प्रकोप आता है, बचाव हेतु उपाय बतायें

रामाधर सिंह 24 अगस्त 2022, भोपाल । इस क्षेत्र में हर वर्ष कामलिया कीट का प्रकोप आता है, बचाव हेतु उपाय बतायें – समाधान– कम्बल कीट का प्रकोप आपके क्षेत्र में हर वर्ष आता है। और फसल बरबाद करता है। मानसून

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

मैंने अगेती फूलगोभी लगाई है, रखरखाव के प्रमुख बिन्दुओं पर चर्चा करें ताकि अच्छी फसल मिल सके

कमलेश पाटीदार 24 अगस्त 2022, भोपाल । मैंने अगेती फूलगोभी लगाई है, रखरखाव के प्रमुख बिन्दुओं पर चर्चा करें ताकि अच्छी फसल मिल सके – समाधान- आमतौर पर अगेती फूलगोभी की किस्म पूसा केतकी लगाई जाती है जो अच्छा उत्पादन देने

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
समस्या – समाधान (Farming Solution)

मैंने कद्दू, करेला, लौकी तथा गिलकी लगाई है, अच्छे उत्पादन के उपाय बतायें

जगमोहन वर्मा 24 अगस्त 2022, भोपाल । मैंने कद्दू, करेला, लौकी तथा गिलकी लगाई है, अच्छे उत्पादन के उपाय बतायें – समाधान- आमतौर पर कद्दूवर्गीय फसलों की बुआई जून में ही कर दी जाती है। जहां कहीं भी सिंचाई के साधन

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें