गेंदा लगायें बहार लायें

भूमि एवं भूमि की तैयारी:- जलनिकास युक्त बलुई दोमट मिट्टी सर्वोत्तम होती है। भूमि की तैयारी के लिये भूमि को अच्छी तरह 3-4 जुताई करके पाटे की सहायता से समतल एवं भुरभुरी बना लेना चाहिये। अफ्रीकन गेंदा:- इस प्रजाति के

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

एलोवेरा की खेती भी किसानों को लाभ देती

– डॉ. जी.एन. पाण्डेय – डी.के. पाटीदार – बी.के. पाटीदार – ए. पाण्डेय ग्वारपाठा, घृतकुमारी या एलोवेरा जिसका वानस्पतिक नाम एलोवेरा बारबन्डसिस हैं तथा लिलिऐसी परिवार का सदस्य है। इसका उत्पत्ति स्थान उत्तरी अफ्रीका माना जाता है। एलोवेरा को विभिन्न भाषाओं में अलग-अलग

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

राज्यों में प्याज भंडारण क्षमता बढ़ाएगी सरकार

मध्य प्रदेश में 38,000 टन भण्डारण क्षमता बढ़ेगी नई दिल्ली। प्याज की बरबादी में कमी लाने के लिए सरकार ने तीन राज्यों में इसकी भंडारण क्षमता 56,800 टन बढ़ाने का फैसला किया है। कृषि मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री शकील

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

बीज उत्पादक कम्पनियों की संकर एवं उन्नत किस्में

कंपनी  किस्म धान महिको एमपीएच-501, सुरुचि नाथ बायोजीन कबीर-508,लोकनाथ-505, 510,नाथ पोहा, गोरखनाथ-509, मेनका, पदमिनी, फोर्ड 140, तहलका मानसेंटो आरएच-257, 664 जेके. एग्री जेनेटिक्स जे के आर एच-401,10, 1220 गंगा कावेरी वरदान, गरिमा, पार्वती, दुर्गा, गंगोत्री, मंदिरा कावेरी सीड्स के पी

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

सरसों बीज उत्पादक कम्पनियों की संकर एवं उन्नत किस्में

सरसों   कंपनी  किस्म महिको महिको बोल्ड, श्रद्धा आर्या संपदा, विशाखा नाथ बायोजीन नाथ सोना-212, सुपर सोना नुजीवीडू सीड्स एनएसएमएसएच 135, 4, आरएच 30, टी9, जम्बो 1, 2, बसंती, एनएस बायएस 1,2, सुबीज सोना, सुपर जम्बो,वरूणा, एनएसएसजी 1755, 1899, हरिता

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मक्का बीज उत्पादक कम्पनियों की संकर एवं उन्नत किस्में

कंपनी  किस्म मक्का महिको 3765,एमआरएम 3824, एमएम एच- 65/69/ईएच-114, एमएम एच 3816 (तृप्ति) एमडब्ल्यूएम 107,एमएमएच-3899/3816/3504/8825,1765, 3499 नाथ बायोजीन नाथ सम्राट, डान, सफेद (अर्ली) 95011, पीला1008, एनडब्ल्यू एमएच -95011, 2002, बिगबॉस, सिंघम (एनएमएच -02) जे.के. एग्री जेनेटिक्स जेके सुरभि गोल्ड, उजाला,

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

धान बीज उत्पादक कम्पनियों की संकर एवं उन्नत किस्में

धान बीज संकर एवं उन्नत किस्में कंपनी किस्म महिको एमपीएच-501, सुरुचि नाथ बायोजीन कबीर-508,लोकनाथ-505, 510,नाथ पोहा, गोरखनाथ-509, मेनका, पदमिनी मानसेंटो आरएच-257, 664 जेके. एग्री जेनेटिक्स जेकेआरएच-401,10, 1220 गंगा कावेरी वरदान, गरिमा, पार्वती, दुर्गा, गंगोत्री, मंदिरा कावेरी सीड्स केपीएच 9090, एके

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मिर्च में सिंचाई कैसे करें

जलवायु :  मिर्च की खेती के लिये आद्र्र उष्ण जलवायु उपयुक्त होती है. फल परिपक्वता अवस्था में शुष्क जलवायु आवश्यक होती है. ग्रीष्म ऋतु में अधिक तापमान से फल व फूल झड़ते है. रात्रि तापमान 16-21डिग्री सेल्सियम फल बनने के

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

चना प्रक्षेत्र दिवस का आयोजन

उज्जैन। भारत सरकार की एन. एफ. एस. एम. योजना अन्तर्गत चना फसल में देसी चने की प्रजातियों को बढ़ावा देने के दृष्टिकोण से एवं चने की फसल में उत्सुक रोग से बचाव हेतु डॉ अशोक कुमार दीक्षित, वरिष्ट वैज्ञानिक एवं

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

जायद मौसम में उड़द की खेती

दलहनी फसल होने के कारण इसकी जड़ों में बनने वाली गांठों में उपस्थित जीवाणु वायुमण्डलीय नत्रजन को भूमि में स्थिर करके भूमि को उपजाऊ बनाती है। इस प्रकार यह फसल भूमि की उर्वराशक्ति को बनाये रखने में  भी सहायक है।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें