फसल की खेती (Crop Cultivation)

नवीनतम फसल की खेती (Crop Cultivation) की जानकारी और कृषि पद्धतियों में नवाचार, बुआई का समय, बीज उपचार, खरपतवार नियन्तारन, रोग नियन्तारन, कीटो और संक्रमण से सुरक्षा, बीमरियो का नियन्तारन। गेहू, चना, मूंग, सोयाबीन, धान, मक्का, आलू, कपास, जीरा, अनार, केला, प्याज़, टमाटर की फसल की खेती (Crop Cultivation) की जानकारी और नई किस्मे। गेहू, चना, मूंग, सोयाबीन, धान, मक्का, आलू, कपास, जीरा, अनार, केला, प्याज़, टमाटर की फसल में कीट नियंतरण एवं रोग नियंतरण। सोयाबीन में बीज उपचार कैसे करे, गेहूँ मैं बीज उपचार कैसे करे, धान मैं बीज उपचार कैसे करे, प्याज मैं बीज उपचार कैसे करे, बीज उपचार का सही तरीका। मशरुम की खेती, जिमीकंद की खेती, प्याज़ की उपज कैसे बढ़ाए, औषदि फसलों की खेती, जुकिनी की खेती, ड्रैगन फ्रूट की खेती, बैंगन की खेती, भिंडी की खेती, टमाटर की खेती, गर्मी में मूंग की खेती, आम की खेती, नीबू की खेती, अमरुद की खेती, पूसा अरहर 16 अरहर क़िस्म, स्ट्रॉबेरी की खेती, पपीते की खेती, मटर की खेती, शक्ति वर्धक हाइब्रिड सीड्स, लहसुन की खेती। मूंग के प्रमुख कीट एवं रोकथाम, सरसों की स्टार 10-15 किस्म स्टार एग्रीसीड्स, अफीम की खेती, अफीम का पत्ता कैसे मिलता है?

फसल की खेती (Crop Cultivation)

किसान संदेश कार्यक्रम से मिला अधिक उत्पादन

भोपाल। बैरसिया ब्लाक के ग्राम बरखेड़ा बरामद के किसान श्री अभय सिंह जागरूक किसान है। इन्होंने अपनी 15 एकड़ जमीन में इस बार 12 एकड़ में गेहूं 3 एकड़ में चना बोया है। उन्हें जानकारी हुई कि रेडियो पर रिलायंस

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

अब स्वराज बनाएगा 60 से 75 एचपी के ट्रैक्टर

 स्वराज 963 एफई लाँच किया मोहाली। महिन्द्रा ग्रुप की इकाई, स्वराज ट्रैक्टर्स ने आज 60 एचपी से 75 एचपी तक की रेंज में उच्च शक्तिवर्ग में बिल्कुल नया ट्रैक्टर प्लेटफॉर्म लांच किया। इस प्लेटफॉर्म पर आधारित ट्रैक्टरों को एक निर्धारित

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

जायद में लगाएं मूंग

भूमि की तैयारी:दो या तीन बार हल या बखर से जुताई कर खेत अच्छी तरह तैयार करना चाहिए तथा पाटा चलाकर खेत को समतल बना लेना चाहिये। दीमक से बचाव हेतु क्लोरोपायरीफॉस चूर्ण 20 किग्रा प्रति हेक्टर की दर से

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
फसल की खेती (Crop Cultivation)

संतरा, माल्टा के रोग, रोकथाम

नीबू वर्गीय फसल उष्ण उपोष्ण कटिबंधीय देशों की महत्वपूर्ण फसल है। ये फल विटामिन सी, शर्करा, अमीनो अम्ल एवं अन्य पोषक तत्वों के सर्वोत्तम स्रोत होते हैं। नीबू वर्गीय फसलों में अनेक प्रकार की बीमारियां होती हैं जो कि इन

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

पपीता से पाएं अधिक आय

जलवायु पपीते की अच्छी खेती गर्म नमी युक्त जलवायु में की जा सकती है। इसे अधिकतम 38 डिग्री सेल्सियस से 44 डिग्री सेल्सियस तक तापमान होने पर उगाया जा सकता है। न्यूनतम पांच डिग्री सेल्सियस से कम नहीं होना चाहिए।

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

भिंडी की खेती

उत्तम किस्में : पूसा ए-4, पंजाब-7, अर्का अभय, अर्का अनामिका, वर्षा उपहार, हिसार उन्नत, वी.आर.ओ.-6 बीज की मात्रा व बुआई का तरीका : ग्रीष्म ऋतु के लिए 18 से 20 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर तथा खरीफ हेतु के लिए 10 से

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
फसल की खेती (Crop Cultivation)

चना फसल में कीट बचाव

कृषि विज्ञान केन्द्र पन्ना के डॉं. बी.एस.किरार, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख द्वारा विगत दिवस ग्राम इटौरी वि.ख. गुनौर में चना फसल में कीट प्रबंधन पर कृषकों को प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण में डॉ. किरार ने बताया कि चना फसल को मुख्य

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

औषधीय गुणों से भरपूर आँवला की खेती

आंवला एक फल देने वाला वृक्ष है। यह करीब 20 फीट से 25 फीट लम्बा झाड़ीदार वृक्ष होता है। भारत की जलवायु आंवले की खेती के उपयुक्त मानी जाती है। भारत में मुख्य रूप से आंवले की खेती उत्तर प्रदेश,

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

नींबू जति के पौधों में फूल झड़ जाते है, क्या करें

समाधान – नींबू तथा इस जाति के अन्य पौधों में फूल यदि अपोषित तो उनके झडऩे की संभावना अधिक रहती है। यदि पौधे मेें क्षमता से अधिक फूल लगे हो तो वे प्राकृतिक रूप से छड़ जाते हैं। फूल में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

गर्मी में लगायें मक्का

भूमि का चुनाव – मक्के की खेती ऐसी भूमि में की जानी चाहिए जिसका पी.एच.मान 6.0 से 7.0 तक हो। जल भराव मक्के की फसल के लिए बहुत हानिकारक होता है। सामान्यत: मक्का की खेती सभी प्रकार की मृदाओं, बालुई

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें