रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

Share On :

reliance-foundation-advice-for-farmers

  • फसल उत्पादन में स्थिरता की दृष्टि से 2 से 3 वर्ष में एक बार खेत की गहरी जुताई करना लाभप्रद होता है, अत: जिन किसान भाईयों ने खेत की गहरी जुताई नहीं की हो, कृपया अवश्य करें। उसके बाद बक्खर/कल्टीवेटर एवं पाटा चलाकर खेत को तैयार करें।
  • उपलब्धता अनुसार अपने खेत में 10 मीटर के अंतराल पर सब-सॉयलर चलाएं जिससे मिट्टी की कठोर परत को तोडऩे से जल अवशोषण/नमी का संचार अधिक समय तक बना रहे।
  • अंतिम बखरनी से पूर्व अनुशंसित गोबर की खाद (10 टन/ हे.) या मुर्गी की खाद (2.5 टन/हे.) की दर से खेत में फैला दें।
  • बोनी के समय आवश्यक आदान जैसे उर्वरक, खरपतवारनाशक, फफूंदनाशक, जैविक कल्चर क्रयकर उपलब्धता सुनिश्चित करें।
  • सोयाबीन में पीला मोजाईक बीमारी की रोकथाम हेतु अनुशंसित कीटनाशक थायोमिथाक्सम 30 एफ.एस. (10 मि.ली./कि.ग्रा. बीज) या इमिडाक्लोप्रिड 48 एफ.एस. (1.2 मि.ली./कि.ग्रा. बीज) से बीज उपचार करने हेतु क्रय/उपलब्धता सुनिश्चित करें।
  • वर्षा के आगमन पश्चात, सोयाबीन की बोनी हेतु मध्य जून से जुलाई के प्रथम सप्ताह का उपयुक्त समय है।
  • धान की उन्नतशील किस्में- शीघ्र पकने वाली जे आर.-345, जे आर.-201 पूर्णिमा तथा मध्यम अवधि में पकने वाली किस्मों में आईआर-64, आईआर-54, माधुरी, क्रांति, महामाया, पूसा बासमती आदि का रोपा तैयार करें। बुआई के पूर्व नील हरित शेवाल (एजोला) को खेत मे मिलायेें व बीज उपचारित करें।

उद्यनिकी

  • आम के फलों के आकार बड़े हो चुके हैं। अत: यूरिया 20 ग्राम प्रति लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें जिससे फलों का गिरना बंद होगा तथा फलों के आकार में वृद्धि होगी। आम के थालों में 20-25 दिनों के अंतराल पर सिंचाई भी करें।

पशुपालन

  • पशुओं को बाहरी परजीवी से बचाव के लिए ब्यूटॉक्स का उपयोग करें। पशुशाला की नियमित सफाई करें एवं 1 लीटर पानी में 5 मिलीलीटर फिनाइल मिलाकर फर्श की सफाई करें।

कृषि, पशुपालन, मौसम, स्वास्थ, शिक्षा आदि की जानकारी के लिए जियो चैट डाउनलोड करें-डाउनलोड करने की प्रक्रिया:-

  • गूगल प्ले स्टोर से जियो चैट एप का चयन करें और इंस्टॉल बटन दबाएं। 
  • जियो चैट को इंस्टॉल करने के बाद, ओपन बटन दबाएं।
  • उसके बाद चैनल बटन पर क्लिक करें और चैनल Information Services MP का चयन करें। 
  • या आप नीचे के QR Code को स्कैन कर, सीधे Information Services MP चैनल का चयन कर सकते हैं। 
Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles