रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

Share On :

reliance-foundation-advice-for-farmers

  • मिट्टी में पोषक तत्वों के स्तर की जांच करके फसल एवं किस्म के अनुसार तत्वों की संतुलित मात्रा का निर्धारण कर खेत में खाद एवं उर्वरक मात्रा की अनुशंसा के लिये मिट्टी परीक्षण आवश्यक है। 
  • मिट्टी परीक्षण हेतु नमूना एकत्र करने से पूर्व खेत के समान गुणों वाली सम्भव इकाईयो में बांटकर हर इकाई से अलग-अलग नमूना लेना चाहिये। नमूना सामान्यत: फसल बोने के एक माह पहले लेकर परीक्षण हेतु भेजें ताकि समय पर परिणाम प्राप्त हो जाये। 
  • रबी फसलों की कटाई के बाद खेत की मिट्टी पलटने वाला हल से 10 इंच गहरी जुताई करें। जिससे तेज धूप से जमीन में उपस्थित कीड़ो के अंडे एवं खरपतवारों के बीज नष्ट हो जायेंगे।
  • बीज भंडारण से पहले भली-भांति साफ कर लें एवं तेज धूप मे 2-3 दिन तक सुखाकर 8 से 10 प्रतिशत नमी होने पर भंडारण करें। 
  • तापमान वृद्धि को देखते हुए ग्रीष्मकालीन फसलों की कतार के बीच में वानस्पतिक मल्च या प्लास्टिक मल्च बिछाएं ताकि वाष्पीकरण को कम कर सके।  

उद्यानिकी 

  • आगामी दिनों में तेज हवाओं का दौर रहेगा अत: नवीन रोपित बागवानी के फलदार पौधों को टूटने तथा गिरने से बचाने के लिए पौधों को लकड़ी का सहारा दें। गन्ने के पौधों की पत्तियों को आपस में बांध दें जिससे तेज हवा के कारण हानि न हो। 
  • करेला की फसल में रस चूसक कीट के नियंत्रण के लिए नीम तेल 5 मिली प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। 

पशुपालन 

  • पशुओं को खुरपका मुंहपका एवं गलघोटू रोग से बचाव हेतु टीकाकरण करवाएँ।  टीकाकरण हेतु नजदीकी पशुचिकित्सक से संपर्क कर सुनिश्चित करें की टीकाकरण 25 अप्रैल से 25 मई के बीच अवश्य लग जाना चाहिए।

 कृषि, पशुपालन, मौसम, स्वास्थ, शिक्षा आदि की जानकारी के लिए जियो चैट डाउनलोड करें-डाउनलोड करने की प्रक्रिया:-

  • गूगल प्ले स्टोर से जियो चैट एप का चयन करें और इंस्टॉल बटन दबाएं। 
  • जियो चैट को इंस्टॉल करने के बाद, ओपन बटन दबाएं।
  • उसके बाद चैनल बटन पर क्लिक करें और चैनल Inform- ation Services MP का चयन करें। 
  • या आप नीचे के QR Code को स्कैन कर, सीधे Inform- ation Services MP चैनल का चयन कर सकते हैं। 
Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles